पढ़ें, अलीगढ़ में मासूम बच्ची की निर्मम हत्या मामले में वीरेंद्र सहवाग, रवीना टंडन और अर्जुन कपूर सहित अन्य द्वारा किए गए रेप के दावों का सच

0

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। अलीगढ़ में ढाई साल की बच्ची की निर्मम हत्या कर दी गई। पूरे देश में इस घटना को लेकर गुस्सा भरा हुआ है। दरअसल, अलीगढ़ के टप्पल थाना क्षेत्र के बूढ़ा गांव में 31 मई को बच्ची का अपहरण कर लिया गया था और उसका शव दो दिन बाद मिला। बच्ची के परिजनों ने इसे लेकर थाने में रिपोर्ट भी दर्ज करवाई थी।

पुलिस के अनुसार, आपसी रंजिश में इस वीभत्स हत्याकांड को अंजाम दिया गया है। मामला पैसों के लेन-देन से जुड़ा बताया गया है, जिसमें पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया है। इस हत्याकांड को लेकर सोशल मीडिया पर गुस्सा भड़का हुआ है। आम से लेकर सेलेब्स तक ने हत्यारों को फांसी पर चढ़ाने की मांग कर रहे हैं। हालांकि, कुछ दक्षिणपंथी समर्थक लोग इस मामले को धार्मिक एंगल देकर माहौल खराब करने की कोशिश में लगे हुए हैं।

सोशल मीडिया पर हिंदुत्व विचारधारा के समर्थकों द्वारा जो पोस्ट शेयर किए जा रहे हैं उसमें बच्ची के साथ रेप का भी जिक्र है लेकिन अलीगढ़ पुलिस ने इससे इंकार किया है। अलीगढ़ के एसएसपी आकाश कुल्हाड़ी ने कहा कि 31 मई को बच्ची के परिजनों ने अपहरण का मामला दर्ज कराया था। 2 जून को बच्ची का शव एक अज्ञात जगह पर चुन्नी में लिपटा मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हुई है, बच्ची की हत्या गला दबाकर की गई।

भारत के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग, अभिनेत्री रवीना टंडन, अभिनेता अर्जुन कपूर जैसे लोग इस मामले में पुलिस का बयान आने से पहले ही इसे धार्मिक रंग देते हुए बच्ची के साथ रेप होने की पुष्टि कर दी। सहवाग ने ट्वीट कर लिखा कि अलीगढ़ के पास टप्पल में ढाई साल के ट्विंकल के साथ सबसे भयानक तरीके से बलात्कार और हत्या के बारे में सुनकर बेहद परेशान हूं। वह न्याय की हकदार है!

वहीं, रवीना टंडन ने भी रेप होने का दावा करते हुए लिखा कि अलीगढ़ में तीन साल की बच्ची की हत्या और रेप बहुत ही डरावना है। उसके शरीर को विकृत कर दिया। बुराई, अमानवीय और बर्बरता को दिखाया। दोषी को फांसी मिलनी चाहिए। कानून को तेजी से काम करना चाहिए!

अलीगढ़ पुलिस द्वारा जारी स्पष्टीकरण के बावजूद, सहवाग और टंडन ने अपने पुराने ट्वीट डिलीट नहीं किए हैं। हालांकि, टंडन ने अलीगढ़ पुलिस द्वारा स्पष्टीकरण जारी करने वाले एक ट्वीट को रीट्वीट किया है। इन दोनों की तरह भारतीय महिला क्रिकेटर मिताली राज ने भी अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए ट्वीट किया कि लड़की के साथ बलात्कार हुआ था।

सोशल मीडिया पर हिंदुत्व समर्थक जो लोग बच्ची के लिए इंसाफ मांग रहे हैं, उन्होंने लिखा है कि बच्ची के साथ रेप करने के बाद उसकी आंखें निकाल ली गईं और आरोपियों ने उसपर तेजाब डाल दिया। अभिनेता र्जुन कपूर ने भी लिखा, ‘बच्ची का रेप और हत्या मानवता के लिए शर्म की बात है। इंसाफ जरूर मिलना चाहिए।’

इन सबके अलावा हिंदुत्ववादी सोशल मीडिया सेना के योद्धाओं द्वारा इसी तरह के दावे किए गए थे। उन्होंने ट्विटर पर ज्ञाउदारवादियों पर ताना मारा है, जिसमें उन्होंने जम्मू के कठुआ में एक हिंदू मंदिर के अंदर 8 वर्षीय लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार और हत्या के दौरान किए गए आक्रोश को व्यक्त करने के लिए कहा।

हालांकि, अलीगढ़ पुलिस ने गुरुवार को स्पष्ट रूप से स्पष्टीकरण जारी करते हुए कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि नहीं हुई है। बलात्कार के फर्जी दावे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जंगल में आग की तरह फैल गया, जिसके बाद एसएसपी अलीगढ़ ने एक वीडियो संदेश जारी कर रेप की बात से इनकार किया है। एसएसपी आकाश कुल्हाड़ी ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट ले जाया जाएगा।

एसएसपी ने बताया कि बच्ची के परिजनों को 2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी गई है। साथ ही अलीगढ़ पुलिस ने ट्विटर पर बताया कि ये हत्या पैसों के लेन-देन को लेकर हुई थी और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रेप का खुलासा नहीं हुआ है। पुलिस ने बताया कि आरोपी जाहिद व असलम को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। आरोपियों पर NSA के तहत कार्यवाही की जा रही है। पुलिस द्वारा FTC कोर्ट में पैरवी की जाएगी।

‘जनता का रिपोर्टर’ हमेशा महिलाओं और बच्चों के खिलाफ होने वाले अपराधों को लेकर आवाज उठाता रहा है और हम आगे भी पीड़ितों के समर्थन में डटकर खड़े रहेंगे। हम अलीगढ़ पुलिस की सराहना करते हैं, जिन्होंने कथित हत्यारों को बहुत जल्दी गिरफ्तार कर लिया और इस नन्ही परी की निर्मम हत्या के तथ्यों को सामने लाए। हमें उम्मीद है कि बच्चे के हत्यारों को बिना किसी विचार के जल्द से जल्द फांसी पर चढ़ा दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here