‘त्रिपुरा में आज लेनिन की मूर्ति ढहा दी गई, कल अंबेडकर परसों भगत सिंह फिर नेहरु और बाद में गांधी की गिराओगे, लेकिन ये तो बताओ इस देश को कहां ले जाओगे?’

0

त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और उसकी सहयोगी इंडिजिनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) ने सभी राजनीतिक जानकारों को चौंकाते हुए विधानसभा चुनावों में बड़ी जीत दर्ज की है और वाम दलों का बरसों पुराना किला ढह गया। राज्य में बीजेपी और आईपीएफटी ने 60 सदस्यीय विधानसभा में 43 सीटों पर जीत दर्ज की है। बीजेपी ने 35 सीटों पर जबकि आईपीएफटी ने आठ सीटों पर जीत हासिल की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे विचारधारा की जीत बताया था।लेकिन त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव में बीजेपी की इस ऐतिहासिक जीत के बाद वहां हिंसा ने उग्र रुप ले लिया है। कई दुकानों में तोड़फोड़ और घरों में आग लगाने की खबरें सामने आ रही हैं। वामपंथी स्मारकों को पर बुलडोजर चलाए जा रहे हैं। त्रिपुरा से आए एक वीडियो और तस्वीरों बीजेपी की टोपी पहने कार्यकर्ताओं के बीच एक जेसीबी मशीन महान कम्युनिस्ट नेता व्लादिमिर लेनिन की एक प्रतिमा को तोड़ रही है।

समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक, दक्षिण त्रिपुरा जिले के बेलोनिया में व्लादिमिर लेनिन की एक प्रतिमा जेसीबी मशीन का इस्तेमाल कर गिरा दी गई है। माकपा ने इस घटना के लिए बीजेपी कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया है।
त्रिपुरा माकपा जिला सचिव तापस दत्ता ने कहा कि त्रिपुरा में माकपा की हार और बीजेपी की जीत के बाद यहां से करीब 110 किलोमीटर दूर बेलोनिया में कॉलेज स्क्वायर में कथित तौर पर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पांच फुट लंबी प्रतिमा को गिरा दिया।

त्रिपुरा में बीजेपी की सरकार बनने से पहले ही समर्थकों ने बुलडोजर की मदद से गिराई लेनिन की मूर्ति

त्रिपुरा में बीजेपी की सरकार बनने से पहले ही समर्थकों ने बुलडोजर की मदद से गिराई लेनिन की मूर्ति, लगाए ‘भारत माता की जय’ के नारेhttp://www.jantakareporter.com/hindi/tripura-bjp-supporters-bulldoze-lenin/175485/

Posted by जनता का रिपोर्टर on Monday, 5 March 2018

कुछ महीना पहले पार्टी पोलित ब्यूरो सदस्य प्रकाश करात ने इस प्रतिमा का अनावरण किया था। दत्ता ने समाचार एजेंसी ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि, ‘‘प्रतिमा को गिराए जाने के बाद भारत माता की जय के नारे भी लगाए गए।’’
दक्षिण त्रिपुरा जिले के पुलिस अधीक्षक मोनचक इप्पर ने बताया कि जेसीबी मशीन के चालक को गिरफ्तार किया गया। बाद में जमानत पर उसे रिहा कर दिया गया। एसपी ने बताया कि प्रतिमा बेलोनिया नगर निगम को सौंप दी जाएगी।

इस बीच, जिला मजिस्ट्रेट मिलिंद रामटेके ने बताया कि चुनाव बाद हिंसा के कारण श्रीनगर, लेफुंगाख, मंडई, आमतली, राधापुर, अरूंधति नगर, जिरनिया, मोहनपुर सहित दक्षिण त्रिपुरा जिले के कई इलाकों में निषेघाज्ञा (धारा-144) लागू कर दी गई है। वहीं हिंसा की खबरों के बीच गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य के राज्यपाल तथागत राय और डीजीपी एके शुक्ला से बात की और नई सरकार के कामकाज संभालने तक राज्य में शांति सुनिश्चित करने को कहा है।

देखिए, सोशल मीडिया लोगों ने कैसे जताई नाराजगी:-

https://twitter.com/sidmtweets/status/970725755935064064



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here