‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ PM मोदी के संदेश को सिनेमा के पर्दे पर ले आए है अक्षय कुमार, 1 दिन में 50 लाख से अधिक लोगों ने देखा ट्रेलर

0

प्रधानमंत्री बनने के दिनों में पीएम मोदी ने अपने शुरूआती दिनों से ही शौचालय बनाने का प्रचार-प्रसार करना शुरू कर दिया था। लेकिन इस विषय पर कोई फिल्म मेकर फिल्म लेकर आ जाएगा ये सोचा नहीं गया था। बहुत जल्दी-जल्दी फिल्में बनाने वाले अक्षय कुमार ने इस बार पीएम मोदी के संदेश को सिनेमा के पर्दे पर उतारने की कोशिश की है ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ के माध्यम से।

'टॉयलेट: एक प्रेम कथा'

अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर की आने वाली फिल्‍म ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ के ट्रेलर से रविवार को भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए चैंपियंस ट्रॉफी मैच के दौरान ट्रेलर रिलीज किया गया। शुरुआत में तो ट्रेलर मजेदार है लेकिन बाद में ये सीरियस मोड़ ले लेता है।

‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ में अक्षय- केशव और भूमि- जया के रोल में हैं. जया और केशव को एक-दूसरे से प्यार हो जाता है और दोनों शादी कर लेते हैं। लेकिन केशव के घर में टॉयलेट नहीं है इस बात की जानकारी जया को नहीं थी। जब उसे ये बात पता चलती है तो वो घर छोड़कर चली जाती है। ऐसे में अक्षय कुमार टॉयलेट बनवाने और अपनी पत्नी को घर वापस लाने का निश्चय करता है।

बस, जया केशव का घर छोड़ कर चली जाती है। केशव भी ठान लेता है कि घर और गांव भर में शौचालय बनवा कर ही रहेगा क्योंकि ‘अगर बीवी पास चाहिए तो घर में संडास चाहिए।’ ट्रेलर में अक्षय भरी पंचायत में कहते दिखते हैं, ‘बीवी लौटे न लौटे, संडास तो मैं बनवाकर छोड़ूंगा’।

शौचालय के इर्द-गिर्द घुमती प्रेमकथा को सिनेमा के पर्दे पर उतारा गया है। यहीं संदेश प्रधानमंत्री मोदी सारे देश में दे रहे है लेकिन अब अक्षय कुमार ने पीएम मोदी की आवाज से आवाज मिलाकर भारत की एक बड़ी समस्या को पहली बार सिनेमा के पर्दे पर उतारकर एक अलग तरह की मिसाल कायम की है।

सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहलानी को भी फिल्म का ट्रेलर इतना पसंद आया कि उन्होंने इसे टैक्स फ्री करने तक की डिमांड कर डाली। ये फिल्म 11 अगस्त को रिलीज हो रही है। फिल्म को श्री नारायण सिंह ने डायरेक्ट किया हैं। ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ के ट्रेलर को पहले दिन में ही 50 लाख से अधिक लोगों ने देखा और पसन्द किया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here