सुशांत सिंह राजपूत मामला: सुप्रीम कोर्ट ने बिहार पुलिस अधिकारी को क्वारंटाइन करने के लिए मुंबई पुलिस की आलोचना की, केंद्र ने CBI जांच की सिफारिश मानी

0

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को दिवंगत बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच करने के लिए मुंबई पहुंचने के बाद बिहार पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी को क्वारंटाइन करने के लिए मुंबई पुलिस की आलोचना की। जस्टिस ह्रषिकेश रॉय की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की एकल पीठ ने कहा कि ये सही संदेश नहीं देता है। जस्टिस रॉय ने मुंबई पुलिस की खिंचाई की और कहा कि उन्हें पेशेवर तरीके से व्यवहार करना चाहिए।

वहीं, केंद्र सरकार ने भी सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की बिहार सरकार की सिफ़ारिश मान ली है। सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने ये जानकारी सुप्रीम कोर्ट को दी है। बिहार पुलिस की जांच को चुनौती देने वाली रिया चक्रवर्ती की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर रहा है। सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच को लेकर मुंबई पुलिस और बिहार पुलिस में जम कर तकरार चल रही है।

बता दें कि, बिहार और महाराष्ट्र की सरकारों और पुलिस के बीच सुशांत के मामले को लेकर जारी खींचतान के बीच सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने बुधवार (5 अगस्त) को सुप्रीम कोर्ट में बताया कि केंद्र सरकार ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की सीबीआई जांच की बिहार सरकार की सिफारिश को स्वीकार कर लिया है।

इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट कर बीते मंगलवार को कहा था, ‘सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह द्वारा पटना में सुशांत की मौत से संबंधित दर्ज कराए गए मामले की सीबीआई से जांच कराने हेतु राज्य सरकार ने अनुशंसा भेज दी है।’

गौरतलब है कि, पटना के रहने वाले 34 वर्षीय अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने मुंबई के बांद्रा स्थित अपने घर में 14 जून की सुबह कथित तौर पर फांसी लगाकर जान दे दी। अभिनेता के मौत की ख़बर ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। उनकी मौत की खबर सुनकर हर कोई हैरान है, किसी को अंदाजा नहीं था कि फिल्म जगत का एक ऐसा कलाकार जिसने इतने थोड़े से वक्त में इतना मुकाम हासिल किया है वो कुछ ऐसा कदम उठा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here