योग दिवस पर विरोध में उतरे देशभर के किसान, खेत में रात-दिन योगा करने वाले किसानों का ‘शवासन’

0

सभी प्रमुख न्यूज चैनल देशभर के योगाभ्यासों को प्रमुखता से दिखा रहे है। इसके विपरित देशभर में किसान अपनी स्थिति से प्रधानमंत्री को अवगत् कराने के लिए योगादिवस के मौके पर शवासन कर रहे है। इसमें वह मृत होकर सीधे-सीधे लेटकर अपना विरोध दर्ज कर रहे है।

शवासन

किसानों ने बाराबंकी में फैजाबाद हाई-वे पर शवासन कर अपना नाराजगी जताई। सैकड़ों की तादाद में मौजूद किसानों ने हाई-वे पूरी तरह से जाम कर दिया। जिसके चलते मीलों लंबा जाम लग गया। इसके अलावा मेरठ में भी किसानों ने शवासन किया। बाराबंकी के अलावा अलीगढ़-नोएडा राजकीय राजमार्ग पर किसानों ने विरोध जताया।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, किसान संगठनों ने भी कांग्रेस के इस विरोध प्रदर्शन का समर्थन करते हुए शवासन किया। भारतीय किसान महासंघ ने भी राजधानी में शवासन कर विरोध जताया।

गौरतलब है कि भारतीय किसान यूनियन ने भी मोदी सरकार पर आरोप लगाए है और कहा है कि केंद्र सरकार की गलत नीतियों की वजह से किसान आज मरणावस्था में पहुंच गया है।  एक प्रस्ताव पारित कर केंद्र सरकार को किसान विरोधी करार दिया और केंद्र की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ 31 जुलाई को लखनऊ में किसान महापंचायत करने और पंचायत के बाद दिल्ली कूच करने का फैसला लिया।

आपको बता दे कि आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का तीसरा साल है। लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 55 हजार लोगों के साथ योग कर रहे हैं। इस अवसर पर बाबा रामदेव गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में अमित शाह के साथ योग कर रहे हैं। अहमदाबाद के भव्य मैदान में बाबा रामदेव पिछले दो दिनों से योगा सिखा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रामदेव का दावा है कि 21 जून को करीब 4 लाख लोग एक साथ योग कर विश्व रिकार्ड बनाएंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here