राफेल पर घमासान: राहुल गांधी बोले- ‘मेरे सवालों का जवाब देने के बजाए जेटली जी ने मुझे गाली दी’

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार (4 जनवरी) को राफेल डील मामले को लेकर एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला। लोकसभा में चर्चा में भाग लेने के बाद राहुल गांधी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर गाली देने का आरोप भी लगाया। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि अरुण जेटली जी ने लंबा भाषण दिया, उन्होंने मुझे गाली दी, मगर मेरे सवालों का जवाब नहीं दिया।

पीएम मोदी को लोकसभा में बहस की चुनौती देने वाले राहुल गांधी ने कहा कि राफेल डिबेट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी गुरुवार को संसद से भाग गए। अरुण जेटली जी ने लंबा भाषण दिया, उन्होंने मुझे गाली दी। मगर जो सवाल हैं उसका जवाब नहीं दिया। राहुल गांधी ने कहा कि आज सरकार की तरफ से रक्षा मंत्री जी अपनी बात पेश करेंगी। ऐसे में मैं एक बार फिर से अपने सवाल उनके साथ विनम्रता से रखता हूं, जिनका जवाब देने से सरकार अब तक बच रही है।

रक्षा मंत्री से पूछे सवाल

  • हवाई जहाज के दाम को 526 करोड़ रुपये से 1600 करोड़ किसने बढाई? क्या एयरफोर्स के लोगों ने दाम बढाया या प्रधानमंत्री मोदी ने?
  • एयरफोर्स को 126 जहाज चाहिए थे लेकिन 36 हवाई जहाज का कांट्रैक्ट तैयार किया। क्या एयरफोर्स ने 36 हवाई जहाज मांगे थे या एयरफोर्स ने 126 हवाई जहाज मांगे थे?
  • अनिल अंबानी को कॉन्ट्रैक्ट किसने दिलवाया, फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद ने कहा था कि ये कॉन्ट्रैक्ट पीएम मोदी ने ही अनिल अंबानी को दिलवाया है। दसॉल्ट कंपनी की अंदरूनी ईमेल में कहा गया है कि भारत सरकार ने उन्हें आदेश दिया था कि ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट सिर्फ अनिल अंबानी को दिया जाना चाहिए…”
  • क्या नई डील में भारत के एयरफोर्स से सलाह ली गई थी या नहीं?

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पूरा विपक्ष चाहेगा कि जब रक्षा मंत्री प्रधानमंत्री की तरफ से बोलेंगी तो इन सवालों का जवाब दिया जाए। उन्होंने कहा कि अरुण जेटली जी ने कहा है कि राहुल गांधी गलत सवाल पूछ रहे हैं। 526 करोड़ रुपये का जहाज अगर 1600 करोड़ रुपये में खरीदा जाता है क्या ये गलत सवाल है कि ये क्यों खरीदा गया?

राहुल गांधी ने कहा कि कहीं किसी फाईल में लिखा है कि रक्षा मंत्रालय नई डील पर आपत्ति दर्ज कर रहा है। रक्षा मंत्री को हमें ये बताना है कि ऐसी कोई फाइल नहीं है जिसमें साफ लिखा है कि नए सौदे पर बातचीत करने वाली टीम आपत्ति कर रही है। उन्होंने कहा कि हम यदि 2019 में सत्ता में आए तो इस मामले की आपराधिक जांच होगी और जो लोग इसके लिए जिम्मेदार होंगे उनको सजा दिलवाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here