राहुल गांधी ने रिफत जावेद से बातचीत में ममता बनर्जी के बयान पर जताई सहमति, चुनाव आयोग में भी दाखिल हो चुके हैं आरएसएस के लोग

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के उस बयान का समर्थन किया है जिसमें उन्होंने कोलकाता में मंगलवार को हुई हिंसा के बाद कार्रवाई को लेकर चुनाव आयोग की आलोचना की थी। बता दें कि, चुनाव आयोग की कार्रवाई के बाद बुधवार रात एक असाधारण प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया था। साथ ही उन्होंने आरोप लगाया था कि चुनाव आयोग में आरएसएस के लोग भरे हुए हैं।

राहुल गांधी

‘जनता का रिपोर्टर’ के एडिटर इन चीफ रिफत जावेद से बात करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बात पर सहमति जताई। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “मुझे लगता है कि उनके कहने में कुछ सच्चाई है। मुझे भी लगता है कि RSS के लोग हर भारतीय संस्थान में व्यवस्थित रूप से घुस चुके हैं।”

यह पूछे जाने पर कि उन्होंने मंगलवार रात की हिंसा और चुनाव आयोग द्वारा उठाए गए कदम के बाद अपना कोई बयान जारी क्यों नही किया। इस पर उन्होंने कहा कि, “नहीं, मेरी प्रतिक्रिया बहुत स्पष्ट है। मैं बस तुम्हें बता रहा हूं। मुझे लगता है कि बंगाल में जो हो रहा है वह बिल्कुल गलत है। मुझे लगता है कि चुनाव आयोग निष्पक्ष नहीं हो रहा है। उदाहरण के लिए, श्री नरेंद्र मोदी को प्रचार करने की अनुमति है और उनकी रैली के बाद चुनाव प्रचार पर प्रतिबंध है? यह अनुचित है।”

साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि चुनाव आयोग की मदद के बावजूद भाजपा इस साल के चुनावों में जीत दर्ज नही कर पाएगी। उन्होंने कहा, श्री नरेंद्र मोदी यह चुनाव नहीं जीत पाएंगे, वह हार रहें है। वह निश्चित रूप से बंगाल में भी सीटें नहीं जीत पाएंगे।

बता दें कि, कोलकाता में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान हुई हिंसा के बाद चुनाव आयोग की कार्रवाई पर विपक्ष हमलावर है। विपक्ष का आरोप है कि चुनाव आयोग ने भाजपा को फायदा पहुंचाने के इरादे से चुनाव प्रचार एक दिन कम करने का फैसला किया है। चुनाव आयोग ने अमित शाह के रोड शो के दौरान मंगलवार को हुई चुनावी हिंसा के मद्देनजर राज्य में अंतिम चरण के मतदान के लिए निर्धारित अवधि से एक दिन पहले, 16 मई को रात 10 बजे से चुनाव प्रचार प्रतिबंधित करने का अप्रत्याशित फैसला किया है।

चुनाव आयोग की कार्रवाई के बाद तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार देर रात कोलकाता में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि उन्होंने पहले कभी इस तरह का चुनाव आयोग नहीं देखा जो आरएसएस के लोगों से भरा पड़ा है। संवाददाता सम्मेलन में बनर्जी ने दावा किया था कि, ‘पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था की ऐसी कोई समस्या नहीं है कि अनुच्छेद 324 लागू किया जाए। यह अभूतपूर्व, असंवैधानिक और अनैतिक है। यह दरअसल मोदी और अमित शाह को उपहार है।’

चुनाव आयोग ने बुधवार को 19 मई को होने वाले चुनाव के अंतिम चरण के लिए प्रचार को समय से पहले थामने के लिए पहली बार संविधान के अनुच्छेद 324 को लागू किया है। इसके साथ ही आयोग ने पश्चिम बंगाल के प्रधान सचिव (गृह) अत्रि भट्टाचार्य और सीआईडी के अतिरिक्त महानिदेशक राजीव कुमार को उनके पदों से हटा दिया है। इस पर बनर्जी ने कहा कि दोनों अधिकारियों को चुनाव आयोग ने नहीं, बल्कि मोदी और अमित शाह ने हटाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here