किसान बिल का विरोध: पंजाब यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने इंडिया गेट पर ट्रैक्टर में लगाई आग, 5 लोग हिरासत में

0

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा कृषि विधेयकों पर हस्ताक्षर करने और उन्हें कानून बनाने के एक दिन बाद, पंजाब युवा कांग्रेस के कार्यकतार्ओं ने सोमवार को उच्च सुरक्षा वाले इंडिया गेट इलाके में एक ट्रैक्टर को आग के हवाले कर अपना विरोध जताया।

इंडिया गेट

दिल्ली पुलिस ने घटना में शामिल पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। क्रांतिकारी भगत सिंह की जयंती पर सुबह लगभग 7.15 बजे विवादास्पद कृषि कानूनों का विरोध करने के लिए पंजाब युवा कांग्रेस के लगभग 10-15 कार्यकर्ता एक ट्रक से राष्ट्रीय राजधानी पहुंचे। कार्यकतार्ओं ने ट्रक से एक ट्रैक्टर को उतारा और उसमें आग लगा दी। घटना को राष्ट्रपति भवन से कुछ मीटर की दूरी पर अंजाम दिया गया।

आईवाईसी ने एक ट्वीट में भगत सिंह की कही बात को उद्धृत करते हुए कहा, “अगर बहरों को सुनाना है, तो आवाज बहुत तेज होनी चाहिए : भगत सिंह।” ट्वीट में कहा गया, “शहीद भगत सिंह की स्मृति के सम्मान में, पंजाब युवा कांग्रेस ने इंडिया गेट पर एक ट्रैक्टर को जलाकर किसानों के प्रति भाजपा सरकार के उदासीन रवैये का विरोध किया। सोते हुए सरकार को जगाओ। इंकलाब जिंदाबाद।”

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, “आज सुबह लगभग 7.15 बजे 15-20 लोग टाटा 407 वाहन में ट्रैक्टर लेकर मान सिंह चौराहा पहुंचे।” प्रवक्ता ने कहा कि उन्होंने ट्रैक्टर को उतारकर उसमें आग लगाने की कोशिश की। उन्होंने कहा, “उन लोगों ने युवा कांग्रेस पंजाब के सदस्य होने का दावा किया है। उचित कानूनी कार्रवाई की गई है। अब तक पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है और एक वाहन को जब्त कर लिया गया है। इन व्यक्तियों की संबद्धता का सत्यापन किया जा रहा है।”

दिल्ली भाजपा मीडिया सेल के प्रमुख नीलकांत बख्शी ने कहा कि वह युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ट्रैक्टर लाकर हिंसा फैलाने के लिए उसमें आग लगा दी। बख्शी ने कहा, “वे देश में दंगे कराने की कोशिश कर रहे हैं और मैं इस साजिश को रोकने के लिए एफआईआर दर्ज कराऊंगा।”

 

गौरतलब है कि देश के कई हिस्सों में किसानों और विपक्षी दलों के विरोध प्रदर्शन के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कृषि सुधारों से संबंधित अधिनियमों को रविवार को मंजूरी दे दी थी।

राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के साथ ही कृषि सुधारों से संबंधित अधिनियम – ‘कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) अधिनियम 2020’ तथा ‘कृषक (सशक्तीकरण और संरक्षण) कीमत आासन एवं कृषि सेवा करार अधिनियम 2020’ देश में लागू हो गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here