मन की बात: PM मोदी बोले- योग दिवस पर परिवारों की तीन पीढ़ियां एक साथ करें योग, पढ़िए- खास बातें

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की जनता को 32वें संस्करण में ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए एक बार फिर रविवार(28 मई) को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने सभी देशवासियों को रमजान की मुबारकबाद दी। पीएम मोदी ने कहा कि रमजान का पवित्र महीना शान्ति, एकता और सद्भावना के मार्ग को आगे बढ़ाने में जरूर सहायक होगा। पीएम मोदी ने कहा कि मैं रजमान के पवित्र महीने की शुरुआत पर पूरे देश को हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं।

मोदी ने कहा कि हम सवा-सौ करोड़ देशवासी इस बात का गर्व कर सकते हैं कि दुनिया के सभी सम्प्रदाय के लोग भारत में मौजूद हैं। पीएम ने कहा कि हर प्रकार की विचारधारा, हर प्रकार की पूजा पद्धति, हर प्रकार की परंपरा, हम लोगों ने एक साथ जीने की कला आत्मसात की है। पीएम ने कहा कि ‘मन की बात’ से मैं देश के हर परिवार का सदस्य बन गया हूं।

उन्होंने कहा कि हर प्रकार की विचारधारा, हर प्रकार की पूजा पद्धति, हर प्रकार की परंपरा, हम लोगों ने एक साथ जीने की कला आत्मसात की है। इस बार का ‘मन की बात’ कार्यक्रम काफी खास था, क्योंकि आज इस कार्यक्रम को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी सुन रहे थे। शाह ये कार्यक्रम दिल्ली के आरके पुरम इलाके में गरीब लोगों के साथ रेडियो पर सुने।

बता दें कि इससे पहले 31वें संस्करण के दौरान पीएम मोदी ने पिछले बार ‘मन की बात’ कार्यक्रम में लाल बत्ती और वीआईपी कल्चर के खिलाफ अपने विचार रखे थे। इससे पहले वह न्यू इंडिया पर देश की जनता को संबोधित किया था।पीएम मोदी अपने इस कार्यक्रम में हर बार आम आदमी से जुड़ी कोई महत्वपूर्ण गतिविधि को केंद्रित करते हैं और इसके लिए सभी देशवासियों से विषय और सुझाव आमंत्रित करते हैं।

पढ़िए, ‘मन की बात’ की मुख्य बातें:-

  • पीएम ने कहा कि नौजवान कंफर्ट जोन से बाहर निकलें और जोखिम लें।
  • उन्होंने कहा कि छात्रों ने गर्मी की छुट्टियों में कुछ नया सीखने की कोशिश है।
  • पीएम ने कहा कि मैं बहुत खुश हूं कि हमारी युवा पीढ़ी देश के इतिहास और स्वतंत्रता संग्रामों के बारे में रुचि ले रही है।
  • मोदी ने लोगों से गुजारिश करते हुए कहा कि कभी मौका मिले तो हमारी आजादी की जंग के तीर्थ क्षेत्र सेल्युलर जेल जरूर जाएं।
  • पीएम ने कहा कि 5 जून यूं तो एक आम दिन है, लेकिन यह विश्व पर्यावरण दिवस है।
  • 5 जून का प्रकृति के साथ जुड़ने का वैश्विक अभियान, हमारा स्वयं का भी अभियान बनना चाहिए।
  • पीएम ने कहा कि 5 जून को प्रकृति से जुड़ने का अभियान होना चाहिए। हमारे पूर्वजों ने प्रकृति का संरक्षण किया और हमें भी यही करना चाहिए।
  • उन्होंने कहा कि बैक टू बेसिक्स का मतलब है खुद से जुड़ना। इस बात को महात्मा गांधी से बेहतर कौन जान सकता है।

     

  • उन्होंने कहा कि वेदों में पृथ्वी और पर्यावरण को शक्ति का मूल माना गया है।
  • पीएम मोदी ने कहा कि तीसरे इंटरनेशनल योगा डे के मौके पर एक परिवार की 3 पीढ़ियां एक साथ योग करें और उसकी तस्वीर नरेंद्र मोदी एप्प या MyGov पर अपलोड करें।
  • उन्होंने कहा कि योग के द्वारा विश्व को एक सूत्र में हम जोड़ चुके हैं। जैसे योग शरीर, मन, बुद्धि और आत्मा को जोड़ता है, वैसे ही आज योग विश्व को जोड़ रहा है।
  • पीएम ने कहा कि योग भारत की विश्व को एक देन है। उन्होंने कहा कि आज की जीवनशैली के कारण योग की जरूरत है।
  • पीए ने कहा कि जम्मू-कश्मीर का ‘रियासी ब्लॉक खुले में शौच से मुक्त हुआ है, ब्लॉक के सभी नागरिकों व प्रशासन को बधाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here