केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने माना फर्जी थी तस्वीर, गलती स्वीकार करने पर लोगों ने की सराहना

0
2

बिजली मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार(20 अगस्त) को माइक्रो ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर पर एक तस्वीर पोस्ट कर दावा किया कि केंद्र की मोदी सरकार में अभूतपूर्व विकास हो रहा है। केंद्रीय मंत्री द्वारा ट्वीट करने के कुछ देर बाद ही यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी। 

पीयूष गोयल ने तस्वीर के साथ ट्वीट कर लिखा, ‘सरकार ने 50 हजार किलोमीटर की सड़को को 30 लाख एलईडी लाइट्स से चमकाने का काम कर दिखाया है।’ हालांकि, उन्होंने अपने ट्वीट में जगह के नाम की जिक्र नहीं किया है।

इस तस्वीर को प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो(पीआईबी) ने जरिए तैयार किया गया था, जिसे केंद्रीय मंत्री ने शेयर किया है।गोयल के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर इस बात पर बहस होने लगा कि कुछ भारतीय सड़कों को छोड़ दें तो ऐसी सड़कें पश्चिमी विकसित देशों में देखी गई हैं।

जिसके बाद यूजर्स ने इस तस्वीर की सच्चाई के बारे में जांच-पड़ताल शुरू कर दिए। कुछ देर बाद इस तस्वीर की हकीकत सबके सामने आ गई और इस बात का खुलासा हुआ कि मोदी के मंत्री द्वारा ट्वीट किया गया यह तस्वीर भारत का नहीं बल्कि रूसी सड़कों का है।

बाद में गलती का हुआ अहसास

हालांकि, ‘जनता का रिपोर्टर’ द्वारा यह फर्जी तस्वीर की खबर चलाए जाने के बाद पीयूष गोयल को इस बात का आभास हो गया कि उन्होंने जो तस्वीर ट्वीट की वह फर्जी है। पीयूष गोयल ने अपनी गलती मानते हुए उन्हें तस्वीर की हकीकत बताने वाले लोगों का शुक्रिया करते हुए एक और ट्वीट किया। केंद्रीय मंत्री ने अपने इस ट्वीट में लिखा, ‘जिस तरह से हम सड़को को रोशन कर रहे हैं उसी तरह सोशल मीडिया तथ्यों को उजागर कर हमें रोशनी दे रहा है।’

साथ ही केंद्रीय मंत्री ने सोशल मीडिया यूजर्स को धन्यवाद देते हुए कहा कि सच्चाई को उजागर करने के लिए सभी का शुक्रिया। केंद्रीय मंत्री द्वारा अपनी गलती को स्वीकार करने के बाद उनकी सराहना हो रही है। लोगों का कहना है कि यह ऐसे पहले मंत्री हैं जिन्होंने अपनी गलती को स्वीकार किया है। गलती किसी से भी हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here