VIDEO: पाकिस्तानी सेना ने कुलभूषण जाधव का जारी किया एक और वीडियो

0

पाकिस्तान की सेना के मुताबिक यहां की सैन्य अदालत द्वारा जासूसी के मामले में फांसी की सजा पाये भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव ने पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा को क्षमा याचिका भेजी है। इंटर-र्सिवसेस पब्लिक रिलेशन (आईएसपीआर) ने एक बयान में दावा किया कि जाधव ने अपनी याचिका में पाकिस्तान में जासूसी, आतंकवादी और विध्वंसक गतिविधियों में अपनी संलिप्तता को स्वीकार किया है और जान माल के नुकसान के लिए पछतावा जताया है।

कुलभूषण जाधव

पीटीआई की ख़बर के मुताबिक, आईएसपीआर ने कहा ‘‘अपने कृत्य के लिए माफी मांगते हुए उन्होंने सेना प्रमुख से अनुरोध किया है कि अनुकंपा के आधार पर उनकी जिंदगी बख्श दें।’’ बयान में कहा गया है कि भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी जाधव ने पहले सेना की अपीली अदालत में गुहार लगाई थी जिसे खारिज कर दिया गया। कानून के मुताबिक जाधव क्षमादान के लिए चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ को अपील कर सकते हैं और खारिज किये जाने पर पाकिस्तान के राष्ट्रपति के सामने गुहार लगा सकते हैं।

सेना ने एक ‘दूसरा इकबालिया वीडियो’ भी जारी किया है जिसमें कथित तौर पर जाधव को आतंकवाद और जासूसी की गतिविधियों में शामिल होने की बात कबूल करते देखा जा सकता है। सेना ने कहा कि उसने वीडियो जारी किया है ताकि दुनिया जान ले कि भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ क्या किया है और क्या करता जा रहा है।

भारत ने जाधव को सुनाई गयी फांसी की सजा के खिलाफ आठ मई को अंतरराष्ट्रीय अदालत का रुख किया था। मामले में 18 मई को हुई सुनवाई में आईसीजे की 10 सदस्यीय पीठ ने जाधव की सजा पर रोक लगा दी। इस मामले में कुछ दिन पहले ही अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) ने भारत तथा पाकिस्तान को अपने-अपने दस्तावेज जमा करने के लिए कहा है।

आईसीजे ने भारत को 13 सितंबर तक मामले के समर्थन में दस्तावेज या निवेदन पत्र देने के लिए कहा, वहीं पाकिस्तान को 13 दिसंबर तक उसका प्रत्युतर जमा कराने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों द्वारा दस्तावेज जमा कराने के बाद आईसीजे के अध्यक्ष मामले पर फैसला करेंगे।

देखिए कुलभूषण जाधव का नया वीडियो:

Commander Kulbushan Sudhir Jadhav, the serving Indian Naval Officer who has been sentenced to death on charges of espionage, sabotage and terrorism has made a mercy petition to the Chief of Army Staff. In his plea, Commander Jadhav has admitted his involvement in espionage, terrorist and subversive activities in Pakistan and expressed remorse at the resultant loss of many precious innocent lives and extensive damage to property due to his actions. Seeking forgiveness for his actions he has requested the Chief of Army Staff to spare his life on compassionate grounds. Commander Jhadev had earlier appealed to the Military Appellate Court which was rejected. Under the law he is eligible to appeal for clemency to the COAS (which he has done)and if rejected, subsequently to the President of Pakistan. His second confessional video, in which he can be seen accepting his acts of terrorism and espionage is also released so that the world should know what India has done and continues to do against Pakistan.

Posted by Maj Gen Asif Ghafoor on Thursday, June 22, 2017

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here