महंगाई की मार: एक बार फिर से रसोई गैस की कीमतों में भारी-भरकम वृद्धि, जानें अब कितने में पड़ेगा एक सिलेंडर

0

रसोई गैस की कीमतों में बुधवार को 144.5 रुपये प्रति सिलिंडर की भारी-भरकम वृद्धि की गई। सरकारी पेट्रोलियम विपणन कंपनियों ने एक अधिसूचना में इसकी जानकारी दी। हालांकि, सरकार ने रसोई गैस पर मिलने वाली सब्सिडी बढ़ाकर लगभग दोगुनी कर दी है। इससे सब्सिडी वाले सिलिंडर के उपभोक्ताओं पर अधिक बोझ नहीं पड़ेगा।

रसोई गैस

कंपनियों ने कहा कि एजपीजी सिलिंडर की कीमत पहले के 714 रुपये से बढ़ाकर 858.50 रुपये कर दी गई है। यह जनवरी 2014 के बाद से रसोई गैस के भाव में हुई सबसे बड़ी वृद्धि है। तब एलपीजी का भाव 220 रुपये प्रति सिलिंडर बढ़ाकर 1,241 रुपये कर दिया गया था। सरकार ने इसके साथ ही एलपीजी सिलिंडर पर मिलने वाली सब्सिडी 153.86 रुपये से बढ़ाकर 291.48 रुपये प्रति सिलिंडर कर दी है। सब्सिडी पर उपभोक्ताओं को एक साल में 12 सिलिंडर मिलते हैं।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों के लिए सब्सिडी 174.86 रुपये से बढ़ाकर 312.48 रुपये प्रति सिलिंडर कर दी गयी है। सब्सिडी के बाद एक सिलिंडर एलपीजी का भाव सामान्य उपभोक्ताओं को 567.02 रुपये तथा प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को 546.02 रुपये पड़ेगा। सामान्यत: हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी के भाव में संशोधन किया जाता है। हालांकि, इस बार इसमें दो सप्ताह का अधिक समय लग गया। अधिकारियों ने इस बारे में कहा कि चूंकि बड़ी वृद्धि की जानी थी, इस कारण आवश्यक मंजूरियां लेने में समय लग गया।

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, दिल्ली में गैर-सब्सिडी इंडेन गैस सिलेंडर का दाम (144.50 रुपये बढ़कर) 858.50 रुपये हो गया है। कोलकाता में (149 रुपए के साथ) 896.00 रुपये हो गया है। मुंबई में गैर-सब्सिडी इंडेन गैस सिलेंडर का दाम (145 रुपये बढ़कर) 829.50 रुपये हो गया है। वहीं, चेन्नई में (147 रुपये बढ़कर) 881 रुपये हो गया है। गैर-सब्सिडी इंडेन गैस सिलेंडर की कीमत में 1 जनवरी, 2020 के बाद से कोई बढ़ोतरी नहीं की गई थी।

खबरों के मुताबिक, कुछ लोगों का यह भी कहना है कि दिल्ली में विधानसभा चुनाव के लिए आठ फरवरी को हुए मतदान को देखते हुए रसोई गैस के दाम बढ़ाने की घोषणा टाल दी गई थी।

मायावती ने एक ट्वीट में कहा कि जबरदस्त महंगाई के समय में सरकार का यह क्रूर कदम है। उन्होंने कहा कि सरकार को संविधान की भावना के अनुसार कल्याणकारी सरकार की तरह काम करना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘ खाना पकाने के गैर-सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर के दाम में आज से लगभग 150 रुपए की भारी वृद्धि देश के करोड़ों गरीब एवं मेहनतकश समाज के लोगों के लिए जबर्दस्त महंगाई में आटा गीला करने वाला क्रूर कदम है। केंद्र संविधान की मंशा के अनुसार कल्याणकारी सरकार की तरह से काम करे तो यह बेहतर होगा।’’

कांग्रेस ने रसोई गैस की कीमत में बढ़ोतरी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए बुधवार को दावा किया कि उन्होंने जनता की जेब पर करंट लगा दिया है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘मोदी जी ने रसोई गैस की क़ीमत 144 रुपये बढ़ा। 2019 से 2020 यानी एक साल में रसोई गैस की क़ीमत 200 रुपये बढ़ा दी। दिल्ली में एक सिलेंडर की कीमत 858.50 रुपये, मुंबई में 829.50 रुपये, चेन्नई में 881 रुपये और कोलकाता में 896 रुपये है।’ उन्होंने प्रधानमंत्री पर तंज कसते हुए दावा किया, ‘करंट की बात करते करते जनता की जेब पर ही करंट मार दिया।’ (इंपुट: भाषा के साथ)

"
"

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here