मुंबई: MNS कार्यकर्ताओं ने ठाणे में उत्तर भारतीय फेरीवालों के साथ की मारपीट और तोड़फोड़

0

महाराष्ट्र में राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी एक बार फिर से देखने को मिली है। इस बार एमएनएस के गुंडों ने मुंबई से सटे ठाणे में उत्तर भारतीय फेरीवालों को अपना निशाना बनाया है।

उत्तर भारतीय
फोटो- दैनिक भास्कर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शनिवार को एमएनएस कार्यकर्ताओं ने सड़क पर खुलेआम फेरीवालों के साथ मारपीट की। खासकर उत्तर भारत के फेरीवालों की पिटाई के बाद उनका सामान भी फेंक दिया, ऐसा करके इन लोगों ने उनके पूरे धंधे तो तहस नहस कर दिया। उत्तर भारतीय फेरीवालों की ये दुकानें ठाणे रेलवे स्टेशन के करीब थी।

दरअसल, राज ठाकरे की पार्टी के कार्यकर्ताओं ने 16 दिन पहले रेलवे अधिकारियों से बात की थी और इस जगह से उत्तर भारतीय फेरीवालों को हटाने की मांग की थी। उनका तर्क है कि इन फेरीवालों से सड़क पर जाम होता है और यहां कभी हादसा हो सकता है और भगदड़ मच सकती है।

फोटो- ABP NEWS

बता दें कि, एलफिन्स्टन रेलवे स्टेशन पर बने फुट ओवर ब्रिज (एफओबी) पर 29 सितंबर की सुबह हुई भगदड़ में 23 लोगों की मौत हो गई थी। हादसे के बाद जो जांच रिपोर्ट आई थी उसमें कहा गया था कि ब्रिज पर अनधिकृत रूप से कब्जा किए फेरीवाले भी इस हादसे की एक वजह थे।

इसके बाद राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने 20 अक्टूबर तक सभी अवैध फेरीवालों को रेलवे ब्रिजों से हटने का फरमान सुनाया था। इस फरमान की अनदेखी करने वाले फेरीवालों को शनिवार को मनसे कार्यकर्ताओं के गुस्से का शिकार होना पड़ा।

गौरतलब है कि एलफिन्स्टन​ रेलवे हादसे के विरोध में 5 अक्टूबर को मनसे की तरफ से राज ठाकरे की अगुवाई में सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने एक मोर्चा निकाला था। इस मोर्च में राज ठाकरे ने रेलवे और प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा था कि, अवैध फेरीवालों को 15 दिन के अंदर रेलवे परिसर से हटाया जाए नहीं तो मनसे अपने स्टाइल से आंदोलन करेगी।

बता दें कि, कुछ दिनों पहले ही महाराष्ट्र के सांगली जिले में मनसे के कथित कार्यकर्ताओं ने हाथ में लाठी लेकर सड़कों पर उतरे और सामने जो भी उत्तर भारतीय दिखा उसकी बेरहमी से पिटाई करने लगे। यहां तक कि लोगों की डंडे और लात-घूसों से पिटाई की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here