अक्टूबर से अब अधिकतम 60 रुपये हो जाएगा मेट्रो का किराया, केजरीवाल ने बढ़ोतरी को बताया जनविरोधी

0

दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों को अगले महीने यानी अक्तूबर से अधिक किराया चुकाना होगा। न्यूनतम किराये में बदलाव नहीं किया गया है। दो किलोमीटर तक का सफर करने के लिए 10 रुपये ही चुकाने होंगे। लेकिन अन्य स्लैब में पांच से 10 रुपये तक की बढ़ोतरी हो जाएगी। अब मेट्रो का अधिकतम किराया 50 की जगह 60 रुपये हो जाएगा।केजरीवालवर्ष 2016 में हाईकोर्ट के सेवानिवृत जज की अध्यक्षता में बनी समिति ने दो चरणों में किराया बढ़ाने का प्रस्ताव दिया था। पहले चरण में मई से किराया बढ़ाने को कहा था, जबकि दूसरे चरण में अक्तूबर से किराया बढ़ाने का प्रस्ताव था। सरकार ने इस प्रस्ताव को मंजूर करते हुए पहले चरण में 10 मई को किराया बढ़ाया था।

मई में न्यूनतम किराया 10 रूपए और अधिकतम 50 रूपए तय किया गया था। उस वक्त दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) का कहना था कि सात साल बाद किराया बढ़ाया गया है जो कि बिजली की दर में वृद्धि, श्रमशक्ति भार एवं रखरखाव का खर्चा बढ़ने के मद्देनजर जरूरी है।

अब बढ़े हुए किराए की नई दरें एक अक्टूबर से लागू हो जाएंगी। लेकिन इसका भार आप पर 3 अक्टूबर से पड़ेगा क्योंकि 1 अक्टूबर को रविवार है और 2 अक्टूबर को गांधी जयंती की छुट्टी। मई में किराया बढ़ाए जाने के बाद से DMRC ने यात्रियों की संख्या में कमी देखी। साल 2016 के जून महीने से तुलना करें तो इस साल जून के महीने में मेट्रो से सफर करने वालों की संख्या काफी कम थी।

केजरीवाल ने जताई नाराजगी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली मेट्रो के बढ़ने वाले किराए को लेकर गुरुवार (28 सितंबर) को नाराजगी जताई। केजरीवाल ने इस बढ़ोतरी को जनविरोधी बताते हुए दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत को आदेश दिए हैं कि जैसे भी हो एक हफ्ते में इस बढ़ोतरी को रोकने के लिए उपाय निकालें।

केजरीवाल ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, ‘मेट्रो किराया बढ़ोतरी जनविरोधी। ट्रान्स्पोर्ट मंत्री कैलाश गहलोत को आदेश दिए हैं कि एक हफ़्ते में किराया बढ़ोतरी को रोकने के उपाय निकालें’

केजरीवाल के इस आदेश के बाद फौरन परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने ट्वीट कर जानकारी दी कि दिल्ली मेट्रो के प्रमुख मंगू सिंह को ढाई बजे सभी दस्तावेज के साथ आने के लिए बुलाया गया है। बता दें कि दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन में केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार 50-50 प्रतिशत के पार्टनर हैं।

60 रुपये होगा किराया

DMRC की मानें तो 2 किलोमीटर तक के लिए 10 रुपये, 2 से 5 किमी तक के लिए 15 की जगह 20 रुपये, 5 से 12 किमी तक के लिए 20 की जगह 30 रुपये, 12 से 21 किमी तक के लिए 30 की जगह 40 रुपये, 21 से 32 किमी तक के लिए 40 की जगह 50 रुपये और 32 किमी से अधिक के सफर के लिए 50 की जगह 60 रुपये देने होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here