छेड़छाड़ केस: CM खट्टर बोले- बेटे की गलती के लिए BJP अध्यक्ष को नहीं दी जा सकती सजा

0

हरियाणा में एक लड़की का कथित रूप से पीछा करने के आरोप में शनिवार(5 अगस्त) को हरियाणा में बीजेपी इकाई के प्रमुख सुभाष बराला के बेटे समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया गया, लेकिन बाद में दोनों को जमानत पर छोड़ दिया गया है। दोनों पर राज्य के एक वरिष्ठ आईएएस अफसर की बेटी से छेड़छाड़ का आरोप है। इस मामले में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि बेटे की गलती के लिए सुभाष बराला को दंडित नहीं किया जा सकता है।

file photo

बता दें कि पुलिस ने बताया कि लड़की ने बीजेपी प्रमुख सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके दोस्त आशीष कुमार पर शुक्रवार रात उसका पीछा करने का आरोप लगाया था। बाद में आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। चंडीगढ़ के पुलिस उपाधीक्षक सतीष कुमार ने कहा, “हमने विकास और आशीष दोनों को गिरफ्तार किया था और बाद में दोनों को जमानत पर छोड़ दिया गया।”

संबंधित लड़की एक आईएएस अधिकारी की बेटी है। उपाधीक्षक ने बताया कि भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत आरोपियों पर मामला दर्ज किया गया है। यह मामला तब सामने आया जब एक लड़की ने पुलिस को शुक्रवार रात फोन करके शिकायत की कि दो लड़के उसका पीछा कर रहे है।

खट्टर की सफाई

विपक्ष द्वारा बीजेपी अध्यक्ष के ऊपर भी कार्रवाई करने की मांग पर सीएम खट्टर ने कहा है कि बेटे की गलती के लिए बीजेपी अध्यक्ष को सजा नहीं दी जा सकती है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा कि मुझे इस घटना के बारे में जानकारी मिली है। चंडीगढ़ पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली है। सीएम ने कहा कि मुझे विश्वास है कि इस मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी। बीजेपी नेता का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि ये मामला सुभाष बराला से नहीं, बल्कि उनके बेटे से जुड़ा है, इसलिए उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाएगी।

बता दें कि इस घटना के बाद बीजेपी चौतरफा घिरती दिखाई दे रही है। कांग्रेस और आईएनएलडी ने इस मामले को लेकर बीजेपी पर हमला बोला है। आईएनएलडी के नेता अभय चौटाला ने कहा कि जो लोग बेटी बचाने की बात करते हैं, उनके बेटे की इस हरकत ने हरियाणा को शर्मसार कर दिया है।

पीड़ित लड़की ने बताई आपबीती

पीड़ित युवती भी आरोपियों के खिलाफ खुलकर सामने आ गई है। इस मामले में पुलिस ने पीड़ित लड़की का बयान भी ले लिया है। युवती ने पुलिस को बताया कि आरोपी सेक्टर-7 से ही उसका पीछा कर रहे थे और बीच रास्ते में कई बार अपनी गाड़ी को उसके आगे करके उसकी खिड़की पर भी हाथ मारा। साथ ही पीड़ित युवती ने फेसबुक पोस्ट के जरिए अपनी आपबीती बताई।

अपनी फेसबुक पोस्ट में पीड़ित युवती ने लिखा, ‘ऐसा लग रहा है कि मैं सौभाग्यशाली हूं कि मैं आम आदमी की बेटी नहीं हूं… मैं इसलिए भी खुशकिस्मत हूं कि न तो मेरा रेप हुआ और न ही मैं मरी हुई पाई गई।’ युवती ने आगे लिखा, उस रात वे उसकी कार के इतना करीब अपनी कार चला रहे कि वह बुरी तरह डर गई थीं कि उनकी कार को टक्कर तक लग सकती है।

NDTV के अनुसार पीड़िता ने फेसबुक पोस्ट में लिखा, मेरे हाथ कांप रहे थे… मेरी पीठ पूरी तरह ऐंठ चुकी थी। मैं कुछ बेसुध थी और मेरे आंसू लगातार बह रहे थे। मैं नहीं जानती थी कि मेरे साथ आज की रात क्या होने वाला है। कौन जानता था कि पुलिसवाले आएंगे भी या नहीं।

युवती ने आगे लिखा, ‘यह कहना ठीक होगा कि संकट की घड़ी में कॉल करने पर एक मिनट में पुलिस ने मुस्तैदी दिखाई और मुझे संकट से बाहर निकाला। इस हादसे से सिस्टम पर मेरा दोबारा विश्वास कायम हुआ है। धन्यवाद चंडीगढ़ पुलिस।’ छेड़छाड़ से पीड़ित युवती के आईएएस पिता ने भी फेसबुक पर पूरे घटनाक्रम की जानकारी साझा किया है।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here