न्यूजीलैंड में हुए आतंकी हमलों पर खुशी जाहिर करने पर यूएई की कंपनी ने रोनी सिंह नाम के शख्स को किया बर्खास्त

0

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में 2 मस्जिदों में हुए आतंकी हमलों में मारे गए मुसलमानों की खुशी मनाना रोनी सिंह नाम के एक शख्स को भारी पड़ गया है। यूएई स्थित कंपनी सिक्योरिटी-ट्रांसगार्ड ने बुधवार को कहा कि उसने न्यूजीलैंड के आतंकी हमले का जश्न मनाने पर उसने अपने एक कर्मचारी को बर्खास्त कर दिया है, जिसमें 50 मुस्लिम मारे गए थे। यूएई सरकार ने बाद में उस व्यक्ति को एक अनाम देश में भेज दिया है। कंपनी और यूएई सरकार दोनों ने व्यक्ति की पहचान का खुलासा नहीं किया है।

Congress 36 Advertisement

हालांकि, ऐसा प्रतीत होता है कि यह विचाराधीन व्यक्ति भारतीय नागरिक है। रोनी सिंह नाम के इस शख्स ने पिछले सप्ताह शुक्रवार को फेसबुक पर न्यूजीलैंड में हुए आतंकी हमलों पर खुशी जाहिर किया था, जिसके बाद लोगों द्वारा सोशल मीडिया पर नाराजगी जताई गई थी। क्राइस्टचर्च आतंकी हमले पर टिप्पणी करते हुए, सिंह ने लिखा था, “आज का दिन मुबारक। पुलवामा के शहीदों को आज सुकून मिला होगा। भगवान का शुक्र है भारत में भी हर शुक्रवार की नमाज में ऐसा होना चाहिए। पाखंडी समुदाय (मुस्लिम) ”

सिंह के इस पोस्ट के बाद कई लोग उसके फेसबुक टिप्पणियों के स्क्रीनशॉट लेकर यूएई अधिकारियों को भेजकर शिकायत की थी, जिसके बाद कंपनी को उसे बर्खास्त करना पड़ा। कंपनी ने एक बयान में कहा है कि एक ट्रांसगार्ड कर्मचारी ने अपने निजी फेसबुक अकाउंट पर न्यूजीलैंड के मस्जिद में हुए आतंकी हमले को लेकर भड़काऊ टिप्पणियां कीं थी, जिसके बाद उसे कंपनी से बर्खास्त कर दिया गया।

Congress 36 Advertisement

कंपनी ने अपने बयान में कहा है कि इस व्यक्ति की वास्तविक पहचान की पुष्टि करने के बाद, उसे ट्रांसजेड द्वारा गिरफ्तार किया गया, उसकी सुरक्षा क्रेडेंशियल्स छीन ली गई, हमारे रोजगार से समाप्त कर दिया गया और कंपनी की नीति और यूएई साइबरक्राइम लॉ नंबर 5 2012 के अनुसार संबंधित अधिकारियों को सौंप दिया गया। उन्हें यूएई सरकार द्वारा निर्वासित किया गया है।

Congress 36 Advertisement

गौरतलब है कि न्यूजीलैंड में क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में शुक्रवार को हुए आतंकी हमले में कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई और 20 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here