मिताली राज को ड्राप करने पर छलका सौरव गांगुली का दर्द, बोले- मुझे भी अच्छी फॉर्म से बावजूद इसी तरह बाहर कर दिया गया था

0

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली महिला क्रिकेट टीम की सबसे वरिष्ठ खिलाड़ी मिताली राज को इंग्लैंड के खिलाफ आईसीसी टी20 विश्वकप के सेमीफाइनल में बाहर किए जाने से हैरान नहीं हैं। उन्होंने कहा कि जब वह अपने करियर के चरम पर थे तब उन्हें भी इसी तरह से बाहर कर दिया गया था। आपको बता दें कि वनडे टीम की कप्तान मिताली ने पाकिस्तान और आयरलैंड के खिलाफ अर्धशतक जमाए, लेकिन उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम लीग मैच से विश्राम दिया गया।

हैरानी की बात यह रही कि इसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में भी मिताली राज जैसी अनुभवी खिलाड़ी को अंतिम एकादश में नहीं रखा गया, जिसमें भारत को आठ विकेट से करारी हार झेलनी पड़ी। भारतीय बल्लेबाज बुरी तरह नाकाम रही और पूरी टीम 112 रन पर सिमट गई। उसके आखिरी आठ विकेट 24 रन के अंदर गिरे। डगआउट में बैठी मायूस मिताली का चेहरा पूरी कहानी कह रहा था।

गांगुली ने कहा, ‘भारत की कप्तानी करने के बाद मुझे भी डगआउट में बैठना पड़ा था। जब मैंने देखा कि मिताली राज को भी बाहर किया गया है तो मैंने कहा, ‘इस ग्रुप में आपका स्वागत है’।’ इस 46 वर्षीय खिलाड़ी ने पाकिस्तान के खिलाफ 2006 में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच को याद करते हुए कहा, ‘कप्तान आपको बाहर बैठने के लिए कहते हैं तो वैसा करो। मैंने फैसलाबाद में ऐसा किया था। मैं 15 महीने तक वनडे नहीं खेला, जबकि मैं संभवत वनडे में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहा था। जिंदगी में ऐसा होता है। कभी कभी दुनिया में आपको बाहर का रास्ता भी दिखाया जाता है।’

हालांकि गांगुली ने कहा कि मिताली के लिए रास्ते अभी बंद नहीं हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘आपको हमेशा यह याद रखना चाहिए कि आप सर्वश्रेष्ठ हो, क्योंकि आपने कुछ अच्छा किया है और मौका फिर से आएगा। इसलिए मिताली राज को बाहर बैठने के लिए कहने पर मुझे निराशा नहीं हुई। मैं मैदान पर प्रतिक्रियाओं को देखकर निराश नहीं हूं।’

गांगुली ने कहा, ‘मुझे निराशा है कि भारत सेमीफाइनल में हार गया, क्योंकि मुझे लगता है कि वह आगे बढ़ सकता था। ऐसा होता, क्योंकि कहा भी जाता है कि जिंदगी में कोई गारंटी नहीं है।’ पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बारे में गांगुली ने कहा कि वह अब भी बड़े छक्के लगाने में सक्षम हैं और उन्हें टीम में बने रहना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘वह एक और चैंपियन है। विश्व टी20 में जीत के बाद पिछले 12-13 वर्षों से उनका शानदार करियर रहा। जिंदगी में आप जो भी काम कर रहे हो, जहां भी हो, आप की जो भी उम्र है या आपके पास जितना भी अनुभव है आपको शीर्ष स्तर पर लगातार अच्छा प्रदर्शन जारी रखना होगा अन्यथा कोई आपका स्थान ले लेगा।’ गांगुली ने कहा, ‘मैं उन्हें शुभकामना देता हूं, क्योंकि हम चाहते हैं कि चैंपियन अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें। मेरा अब भी मानना है कि वह लंबे शॉट मार सकते हैं। वह बेजोड़ क्रिकेटर हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here