VIDEO: राज्यसभा में न भेजे जाने का कारण पूछने पर बोले कुमार विश्वास- ‘मेरे लहज़े में जी-हुज़ूर न था, इससे ज़्यादा मेरा कसूर न था’

0

दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (AAP) में राज्यसभा सीट पर जारी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। पार्टी से नाराज चल रहें कुमार विश्वास ने दिल्ली के मुख्यमंत्री और पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल पर शायराना अंदाज में निशाना साधा है।

कुमार विश्वास
File Photo: The Hindu

दरअसल, एक हिंदी टीवी न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में जब उनसे राज्यसभा में न भेजे जाने का कारण पूछा तो उन्होंने शायराना अंदाज में जवाब देते हुए कहा, ‘मेरे लहजे में जी-हुजूर न था, इससे ज्यादा मेरा कसूर न था’। बता दें कि, कुमार विश्वास ने खुद इस इंटरव्यू का वीडियो ट्विटर पर शेयर करते हुए यही बात कही है।

बता दें कि, पार्टी नेता गोपाल राय ने गुरुवार (4 जनवरी) को आरोप लगाया था कि नगर निगम चुनावों के बाद दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की सरकार गिराने का षड्यंत्र रचने के केंद्र में विश्वास थे। जारी घमासान के बीच शुक्रवार (5 जनवरी) को कुमार विश्वास ने गोपाल राय पर पलटवार करते हुए करारा जवाब दिया।

विश्वास ने उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग और फिल्म बाहुबली के किरदारों माहिष्मति, शिवगामी, कट्टप्पा का जिक्र करते हुए गोपाल राय और पार्टी आलाकमान पर निशाना साधा।

कुमार ने कहा कि मेरे शव के साथ छेड़छाड़ ना करें, मुझे पता है इस माहिष्मति की शिवगामी कोई और है। उन्होंने कहा कि हर बार नए कटप्पा को पेश किया जाता है। गोपाल राय के आरोपों पर पलटवार करते हुए कुमार विश्वास ने शुक्रवार को कहा कि उनकी अब कुंभकर्णी नींद खुली है। वे कार्यकर्ताओं की मीर जाफर की उपाधि देते रहते हैं। पार्टी ने उनके बयान से किनारा कर लिया है।

बिना नाम लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कुमार ने कहा कि, दरअसल इस माहिष्मती की शिवगामी देवी कोई और है जो बाहुबली को मारने के लिए हर बार कट्टप्पा बदलती रहती है। मेरा उनसे अनुरोध है कि कांग्रेस और भाजपा से आए नए-नए गुप्ताओं के योग ‘दान’ का कुछ दिन आंनद लें। मेरे शव के साथ छेड़छाड़ ना करें।

साथ ही कुमार ने उत्तर कोरिया के तानाशाह का जिक्र करते हुए कहा, ’किम जोंग ने दुनिया को बड़ा तंग कर रखा है। संयुक्त राष्ट्र के अध्यक्ष भी लगे हाथ बन जाएं। थोड़ी विश्व शांति भी हो जाएगी।’ इस बीच पार्टी के प्रवक्ता गोपाल राय ने भी ABP न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि पार्टी कुमार विश्वास को राज्य सभा का उम्मीदवार बनाना चाहती थी, लेकिन उनकी पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते ऐसा नहीं किया गया।

बता दें कि गोपाल राय ने गुरुवार को दावा किया कि पिछले वर्ष अप्रैल में एमसीडी चुनावों के बाद सरकार को गिराने का प्रयास किया गया और उस षड्यंत्र के केंद्र में कुमार विश्वास थे। उन्होंने फेसबुक के लाइव सत्र में कहा कि, ‘‘इस बारे में कुछ विधायकों के साथ अधिकतर बैठकें उनके आवास पर हुईं। कपिल मिश्रा उसका हिस्सा थे और बाद में उन्हें कैबिनेट से हटा दिया गया।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here