राज्यसभा टिकट पर AAP में घमासान जारी: कुमार विश्वास के समर्थकों द्वारा किए गए प्रदर्शन के बाद केजरीवाल का रीट्वीट, ‘जिन लोगों को पद और टिकट का लालच है पार्टी छोड़ दें’

0

आम आदमी पार्टी (AAP) के भीतर पिछले कुछ दिनों से चल रही राज्यसभा की जंग गुरुवार (28 दिसंबर) को धरने-प्रदर्शन तक पहुंच गई। AAP के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास को राज्यसभा भेजने की मांग को लेकर उनके समर्थकों ने गुरुवार (28 दिसंबर) को दिल्ली स्थित पार्टी कार्यालय में घुसकर जमकर हंगामा किया। विश्वास के समर्थकों ने पार्टी दफ्तर के भीतर प्रदर्शन कर उनको राज्यसभा उम्मीदवार बनाने की मांग की। समर्थकों ने पार्टी दफ्तर पर कुमार को राज्यसभा टिकट के समर्थन में पोस्टर भी लगाए।

file photo

इस हंगामे के बीच, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इशारों ही इशारों में परोक्ष रूप से कुमार विश्वास और उनके समर्थकों को बड़ा संदेश दिया है। गुरुवार को हुए धरना-प्रदर्शन के बाद केजरीवाल ने ट्विटर पर एक वीडियो रीट्वीट किया है। इस वीडियो में केजरीवाल ने साफ तौर पर संदेश दिया है कि जिन-जिन लोगों को पद और टिकट का लालच है, उन्हें फौरन पार्टी छोड़कर चला जाना चाहिए।

इस वीडियो में केजरीवाल कहते हैं, ‘जिन-जिन लोगों को देश के लिए काम करना है, वे पार्टी में आएं। जिन-जिन लोगों को पद और टिकट का लालच है, वे आज ही पार्टी छोड़कर चले जाएं। वे गलत पार्टी में आ गए हैं।’ माना जा रहा है कि केजरीवाल ने ये बयान रीट्वीट करके कुमार विश्वास को जवाब दिया है जो साफ तौर पर राज्यसभा सदस्य बनने की इच्छा जता चुके हैं।

निहार नथानी नाम के एक यूजर ने इस वीडियो में केजरीवाल के बयान (जिन जिन लोगों को पद और टिकट का लालच है, आज पार्टी छोड़ कर चले जाएं। वो गलत पार्टी में आ गए हैं।) को हिंदी में लिखकर उन्हें टैग किया है। जिसे केजरीवाल ने रीट्वीट किया है।

कुमार के समर्थकों ने AAP दफ्तर पर गाड़े तंबू

बता दें कि विश्वारस के समर्थक उन्हें राज्य सभा भेजने की मांग को लेकर दिल्ली स्थित आम आदमी पार्टी (AAP) के कार्यालय पर तंबू तक गाड़ कर बैठ गए थे। उन्होंरने आधे कार्यालय पर करीब कब्जा कर लिया था। कुमार के समर्थकों ने पार्टी ऑफिस पहुंचकर मांग की कि पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक (केजरीवाल) उनसे मुलाकात करें। उनकी बात सुनें और कुमार विश्वास को राज्यसभा का उम्मीदवार बनाएं।

हालांकि, गुरुवार देर शाम तक कुमार के कहने पर उनके समर्थक पार्टी दफ्तर से हट गए। कुमार विश्वास ने समर्थकों से प्रदर्शन खत्म करने की अपील करते हुए ट्वीट किया, ”कृपया 26 नवंबर की मेरी अपील का ध्यान रखें, देश पहले, पार्टी बाद में और व्यक्ति सबसे अंत में। स्वराज के लिए लड़ें। बुनियादी चीजों, पारदर्शिता की तरफ लौटें। लेकिन मेरे नाम पर मैं किसी हंगामे को पसंद नहीं करूंगा। अभिमन्यु मरकर भी वीरगति को प्राप्त होता है।” कुमार की अपील के बाद सभी समर्थक वापस चले गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here