कैलाश विजयवर्गीय ने ट्विटर पर लिखा, ‘विदेशी स्त्री से उत्पन्न संतान कभी देश हित और राष्ट्र प्रेम का अनुगामी नहीं हो सकता’, ट्रोल होने बाद डिलीट किया ट्वीट

0

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने शनिवार को एक ऐसा किया कि इसको लेकर वो सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए। यूजर्स ने उन्हें ट्रोल कर शुरु कर दिया। हांलाकी, ट्विटर पर खुद को ट्रोल होते देख उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया लेकिन उनके ट्वीट का स्क्रीनशॉट अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

कैलाश विजयवर्गीय
फाइल फोटो: कैलाश विजयवर्गीय

दरअसल, बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने शनिवार (15 दिसंबर) की सुबह ‘सैटर्डे मोटिवेशन’ हैशटैग के साथ अपने ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट किया, जिसे लेकर सोशल मीडिया पर उनकी काफी आलोचना हो रही है। उन्होंने जो ट्वीट किया था उसमें लिखा था, ”विदेशी स्त्री से उत्पन्न संतान कभी देश हित और राष्ट्र प्रेम का अनुगामी नहीं हो सकता।”

इस ट्वीट के बाद कैलाश विजयवर्गीय सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए और लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया। हांलाकी, ट्विटर पर खुद को ट्रोल होते देख उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया लेकिन उनके ट्वीट का स्क्रीनशॉट अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है और उनके ट्वीट पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहें है।

कैलाश विजयवर्गीय के ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए वरिष्ठ पत्रकार मानक गुप्ता ने लिखा, “दुनिया के कई देशों में भारतीय लोग वहाँ की सत्ता में भागीदारी निभा रहे हैं। क्या वो भी उस देश के हित के ख़िलाफ़ काम कर रहे हैं। भारतीय संस्कारों के एकदम उलट ख़यालात।” वहीं पत्रकार उमाशंकर सिंह ने लिखा, “शर्म आ गई। ट्वीट डिलीट कर दिया। एक लाइन में खेद भी जता देते। थोड़ा बड़े बन जाते।”

वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा, “आज शाम को कैलाश विजयवर्गीय के इस ट्वीट पर भी जरूर बहस होना चाहिए, क्या वास्तव में इतने बड़े पद पर रहकर इस प्रकार की भाषा का उपयोग करना सही है?” एक अन्य यूजर ने लिखा, “कैलाश विजयवर्गीय जैसे लोग नीच प्रजाति से संबंध रखते है। इनके खून मे घृणा और द्वेष अत्यधिक मात्रा में मिलती है, ये जब भी मुँह खोलते है अपने आपको और नीचता की खाई में ले जाते है। भगवान इन जैसे लोगो को सद्बुद्धि दे।”

वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा, “ये बात उचित नही है। महिला, महिला ही होती है। चाहे वो देश की हो या फिर विदेश की। थोड़ा तो विचारकर लिखें।” एक अन्य यूजर ने लिखा,”यह ओछ मानसिकता है आपकी।” एक अन्य यूजर ने लिखा, “कैलाश विजयवर्गीय की मानसिकता ख़राब है”

देखिए कुछ ऐसे ही ट्वीट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here