मेलबर्न: टीम इंडिया ने आस्ट्रेलिया में रचा इतिहास, टेस्ट के बाद वनडे सीरीज भी जीती

0

भारत ने इतिहास रचते हुए टेस्ट के बाद ऑस्ट्रेलिया को तीसरे वनडे में 7 विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली है। भारत के लिए धोनी ने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करते हुए हॉफ सेंचुरी लगाई। तीन मैचों की वनडे सीरीज इस समय 1-1 की बराबरी पर है और ऐसे में सीरीज का आखिरी मैच होने के कारण इस मैच की जीतना दोनों टीमें के लिए काफी अहम हो गया था। भारत को मैच जीतने के लिए 231 रन चाहिए थे।

@bcci

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी और उनके गेंदबाजों ने कप्तान को निराश नहीं किया। भुवनेश्वर कुमार ने बीते दो मैचों की तरह ही इस मैच में भी आस्ट्रेलिया को अच्छी शुरुआत से वंचित रखा। बीते दो मैचों में आस्ट्रेलिया को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने वाला उसका मध्यक्रम और निचला क्रम इस मैच में चहल की फिरकी में फंस कर रह गया।

तीसरे और आखिरी वनडे मैच में 231 रनों का पीछा करते हुए सर्वाधिक 87 रन महेंद्र सिंह धोनी बनाए। वहीं पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया को 230 रन पर रोकने के लिए यजुवेंद्र चहल ने 6 विकेट चटकाए। टीम इंडिया ने टेस्ट सीरीज के बाद उसने वनडे सीरीज जीती है। इससे पहले टी-20 सीरीज ड्रॉ रही थी। वनडे सीरीज धोनी के लिए शानदार रहा है। तीनों की वनडे मैच में उन्होंने अर्धशतक जड़े। वहीं, ऑस्ट्रेलिया में द्विपक्षीय सीरीज जीतकर कप्तान विराट कोहली ने इस साल होने वाले वर्ल्ड कप की तैयारी के संकेत दे दिए हैं।

भुवनेश्वर और मोहम्मद शमी ने दो-दो विकेट लिए। इन दोनों ने शुरू से आस्ट्रेलिया को रन नहीं बनाने दिए। भुवनेश्वर ने तीसरे ओवर की पांचवीं गेंद पर एलेक्स कैरी (5) को स्लिप पर खड़े कोहली के हाथों कैच करा मेजबान टीम को पहला झटका दिया। कप्तान एरॉन फिंच (14) पिछले दो मैचों में भुवनेश्वर का ही शिकार बने थे इसलिए इस मैच में क्रिज से काफी आगे खड़े होकर संभल कर बल्लेबाजी कर रहे थे, लेकिन भुवनेश्वर उन्हें लगातार तीसरी बार आउट करने में सफल रहे। फिंच का विकेट नौवें ओवर की आखिरी गेंद पर 27 के कुल स्कोर पर गिरा।

यहां से शॉन मार्श (39) और उस्मान ख्वाजा (34) ने टीम को कुछ देर तक संभाले रखा और स्कोर 100 पहुंचा दिया। यहां कोहली ने चहल को गेंद दी और उन्होंने एक ही ओवर में पहले मार्श और फिर ख्वाजा को आउट कर आस्ट्रेलिय का स्कोर 101 पर चार विकेट कर दिया। हैंड्सकॉम्ब ने एक छोर संभाले रखा था लेकिन चहल ने दूसरे छोर से विकेट लेकर उन्हें अकेला ही रखा। लेग स्पिनर ने अपना अगला शिकार मार्कस स्टोइनिस (10) को 123 के कुल स्कोर पर बनाया। ग्लैन मैक्सवेल सिर्फ 26 रनों का योगदान दे सके और शमी का पहला शिकार बने।

झाए रिचर्डसन की 16 रनों की संघर्षपूर्ण पारी का अंत चहल ने उन्हें केदार जाधव के हाथों कैच करा कर किया। हैंड्सकॉम्ब भी 219 के कुल स्कोर पर चहल की गेंद पर पगबाधा करार दे दिए गए। उन्होंने अपनी पारी में 63 गेंदों का सामना करते हुए दो चौके मारे। एडम जाम्पा (8) चहल का छठा शिकार बने। शमी ने बिलि स्टानलेक (0) को बोल्ड कर आस्ट्रेलियाई पारी का अंत किया। (इनपुट आईएएनएस/एएनआई के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here