गैंगरेप मामला: अखिलेश सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रजापति को मिली जमानत

0

समाजवादी पार्टी के नेता और अखिलेश सरकार में मंत्री रहे गैंगरेप के आरोपी गायत्री प्रजापति को मंगलवार(25 अप्रैल) को लखनऊ की पॉक्सो कोर्ट ने जमानत दे दी है। प्रजापति के साथ ही अन्य आरोपी पिंटू सिंह, विकास वर्मा को भी जमानत मिल गई है। कोर्ट ने इन सभी को एक एक लाख रुपये के मुचलके पर जमानत दी है।Gayatri Prajapati

बता दें कि प्रजापति के खिलाफ एक युवती ने रेप का मामला दर्ज कराया था। युवती का आरोप था कि गायत्री प्रजापति ने उसके साथ बलात्कार किया था। बलात्कार के एक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश जारी किया था। शीर्ष अदालत के निर्देश के बाद 15 मार्च काे प्रजापति को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया था।

Also Read:  खुलासा: बलात्‍कारी बाबा राम रहीम के इलाके में चलती थी अलग मुद्रा प्रणाली

दरअसल, गायत्री प्रसाद प्रजापति के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाने वाली महिला का आरोप है कि मंत्री ने उसे पार्टी में ऊंचा पद दिलाने और के नाम पर पिछले दो साल में कई बार रेप किया, और उसकी नाबालिग बेटी के साथ छेड़छाड़ भी की। महिला का यह भी आरोप है कि इस मामले में पुलिस ने उसकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की।

Also Read:  'जय श्री राम' का नारा लगाते हुए भीड़ ने पैरों से रौंदी फिल्म 'पद्मावती' की रंगोली

17 फरवरी को गायत्री प्रजापति और 6 अन्य लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई थी। FIR के मुताबिक, पीड़ित महिला ने शिकायत में कहा था कि एक करीबी के माध्यम से करीब तीन साल पहले उसकी मुलाकात गायत्री प्रजापति से हुई थी। महिला का आरोप है कि गायत्री ने कुछ आपत्तिजनक फोटो लिए थे और कई बार ब्लैकमेल भी किया।

Also Read:  गोमांस को लेकर विवादित टिप्पणी करने वाले अपने उम्मीदवार से भाजपा मांगेगी जवाब

पीड़िता के मुताबिक, उसके साथ अक्टूबर 2014 से जुलाई 2016 तक गैंगरेप किया गया। जब आरोपियों ने उसकी बेटी से छेड़छाड़ की कोशिश की तो महिला ने अक्टूबर 2016 में डीजीपी को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने गायत्री के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया था। गायत्री का पासपोर्ट भी जब्त कर लिया गया। बता दें कि गायत्री प्रजापति उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अमेठी से चुनाव लड़े और हार गए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here