गोल्ड मेडल विजेता मनु भाकर ने हरियाणा सरकार से मांगा अपना इनाम तो नाराज हुए खेल मंत्री, बोले- खेल पर ध्यान दो, माफी मांगो

0

यूथ ओलंपिक में शूटिंग में गोल्ड मेडल जीतने वाली मनु भाकर की पुरस्कार राशि को लेकर जारी विवाद के बीच अब हरियाणा सरकार की ओर से जवाब आया है। बता दें कि मनु भाकर ने सोशल मीडिया के जरिए हरियाणा सरकार के खेल मंत्री अनिल विज से पूछा था कि 2 करोड़ रुपये इनाम में देने की घोषणा सही में थी या फिर यह भी एक ‘जुमला’ था।

मनु भाकर

बता दें कि मनु भाकर ने अक्टूबर, 2018 में अर्जेंटीना में हुए यूथ ओलंपिक के 10 मीटर एयर पिस्टल ईवेंट में गोल्ड जीता था। इसके साथ ही वो भारत की सबसे कम उम्र की शूटिंग में गोल्ड मेडल जीतने वाली खिलाड़ी बन गई थी। उनके जीत के तुरंत बाद ही हरियाणा के खेल मंत्री अनिल विज ने ट्वीट करते हुए ये वादा किया था कि राज्य सरकार की तरफ से मनु भाकर को 2 करोड़ की ईनाम राशि दी जाएगी।

अनिल विज ने ट्विटर पर ऐलान करते हुए कहा था कि गोल्ड जीतने के बदले हरियाणा सरकार मनु भाकर को 2 करोड़ रुपये इनाम में देगी। पहले यह राशि मात्र 10 लाख रुपये थी। अब इसी ऐलान की याद कराते हुए मनु भाकर ने ट्विटर पर पूछा कि क्या यह घोषणा सही थी या फिर जुमला था। एक दूसरे ट्वीट में मनु भाकर ने लिखा, ‘कुछ हरियाणा में कुछ यूथ ओलंपिक गेम्स कैश प्राइज खेल रहे हैं। क्या खिलाड़ियों के उत्साहित या हतोत्साहित करने के लिए है? क्या सही है…’

लेकिन उस ऐलान के क़रीब तीन महीने बाद इनाम नहीं मिलने से नाराज़ गोल्ड मेडल विजेता मनु भाकर ने खेल मंत्री अनिल विज से सवाल पूछा और राशि की मांग की, तो इस पर मंत्री जी नाराज़ हो गए और उन्होंने मनु को खेल पर ध्यान देने की नसीहत दी।

अनिल विज ने ट्वीट कर कहा, सार्जवनिक मंच पर बात रखने से पहले मनु भाकर को पहले खेल मंत्रालय से बात करनी चाहिए थी। देश में सर्वोच्च पुरस्कार देने वाले राज्य सरकार की निंदा करना घृणित है। जैसा कि मैंने उस वक्त ट्वीट किया था मनु भाकर को 2 करोड़ रुपये मिलेंगे।

अनिल विज ने एक और ट्वीट कर मनु भाकर पर अनुशासनहीन होने का आरोप लगाया। उन्होंने लिखा, ‘खिलाड़ियों में अनुशासन की भावना होनी चाहिए। मनु भाकर को इस विवाद के लिए माफी मांगनी चाहिए। उन्हें अभी बहुत लंबा खेलना है, इसलिए अपने खेल पर फोकस करना चाहिए।’

मनु भाकर और हरियाणा सरकार के खेल मंत्री अनिल विज को ईनामी राशि को लेकर छिड़ी बयानबाजी में मनु के पिता रामकिशन भाकर ने नया बयान देकर नया मोड़ ला दिया है।

हिन्दुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक, मनु के पिता ने कहा है कि बीते दो सालों में मनु ने जितने भी टूनार्मेंट खेले है, उनमें से अधितकर टूनार्मेंट्स हिस्सा लेने की राशि और ईनामी राशि अभी तक नहीं मिली है। मनु के पिता ने कहा कि जूनियर और सीनियर स्तर पर उनके बेटी ने जितने टूनार्मेंट खेले उनमें हिस्सा लेने के लिए भी खिलाड़ी को पैसा मिलता है जो मनु को नहीं मिला है। साथ ही इस दौरान जितने भी ईनामी राशि थी उसका पैसा भी उन्हें नहीं मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here