गुजरात पुलिस पर छेड़खानी की शिकायत लेकर थाने गई लड़कियों को पीटने का लगा आरोप, वीडियो वायरल

0
Follow us on Google News

पिछले दो दिनों से सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में कथित चोट की निशान दिखा रहीं कुछ लड़कियों का आरोप है कि उनके साथ कथित तौर पर गुजरात पुलिस ने मारपीट की है। लड़कियों का आरोप है कि पुरुष और महिला पुलिस कर्मियों ने उनके साथ बेरहमी से मारपीट की और उनके कपड़े तक फाड़ दिए। यह मामला गुजरात के नरोदा पुलिस स्टेशन का है। हालांकि गुजरात पुलिस ने लड़कियों के साथ मारपीट के आरोपों को खारिज कर दिया है।दरअसल, वायरल हो रहे वीडियो में लड़कियां आरोप लगा रही हैं कि एक लड़के ने उनके साथ कथित तौर पर छेड़छाड़ की, जिसकी शिकायत दर्ज कराने वह गुजरात के नरोदा पुलिस स्टेशन पहुंची। वहां लड़कियों के साथ उनका एक परिचित युवक भी पुलिस स्टेशन पहुंचा। उस दौरान पुलिस स्टेशन में लड़कियों के साथ कथित तौर पर छेड़खानी करने वाला युवक भी मौजूद था।

गुजरात पुलिस पर लड़कियों का आरोप है कि उन्होंने आरोपी युवक से कथित तौर पर रिश्वत लेकर उसे छोड़ दिया और लड़कियों के समर्थन में आए एक दूसरे बेगुनाह युवक को गिरफ्तार कर लिया। इस कथित बेगुनाह युवक की गिरफ्तारी का लड़कियां विरोध कर रही थीं, लेकिन पुलिस पर आरोप है कि उन्होंने लड़कियों के साथ हाथापाई शुरू कर दी और उनके साथ कथित तौर मारपीट की।

वायरल वीडियो में लड़किया थाने के हंगामा करते हुए नजर आ रहीं है, वहीं कुछ लड़कियां अपने चेहरे पर कथित मारपीट के निशान भी दिखा रही हैं। वीडियो में लड़कियों के साथ कुछ पुरुष और महिला पुलिसकर्मी हाथापाई भी करते हुए नजर आ रहे हैं। इस दौरान लडकियां खुद को बचाने के लिए शोर मचा रही हैं, नरोदा थाने में काफी देर तक लड़कियां और पुलिसकर्मियों के बीच यह झड़प चलता रहा।

गुजरात पुलिस ने आरोपों को किया खारिज

हालांकि, गुजरात पुलिस ने लड़कियों के साथ मारपीट के आरोपों को बेबुनियाद करार देते हुए खारिज कर दिया है। पुलिस का कहना है कि लड़कियां एक आरोपी को थाने से जबरन छुड़ाने की कोशिश कर रही थीं, जिसके बाद महिला पुलिसकर्मियों द्वारा लड़कियों को थाने से बाहर निकाला गया। पुलिस का कहना है कि थाने से बाहर आने के बाद लड़कियों द्वारा उनपर मारपीट करने का झूठा आरोप लगाया गया।

‘जनता का रिपोर्टर’ से फोन पर बातचीत में नरोदा पुलिस स्टेशन के हेड कांस्टेबल धनपाल सिंह ने कहा कि यह मामला दो दिन पहले 25 फरवरी का है। सिंह ने कहा कि मारपीट के आरोप में पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लेकर थाने में बंद किया था, इसी दौरान कुछ लड़कियां आरोपी युवक के समर्थन में थाने में आकर हंगामा करने लगीं और उसे जबरन छुड़ाने की कोशिश करने लगीं। उन्होंने कहा कि जिसके बाद हमने महिला पुलिसकर्मियों के जरिए लड़कियों को थाने से बाहर किया। लेकिन थाने से बाहर आने के बाद लड़कियों ने उनपर मारपीट करने के झूठे आरोप लगाते हुए वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया।

(देखिए वीडियो)

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here