नोएडा: PM मोदी के दौरे के दौरान बैनर लेकर फ्लैट खरीददारों ने किया विरोध प्रदर्शन

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार (25 दिसंबर) को नोएडा को साउथ दिल्ली से जोड़ने वाली मजेंटा लाइन मेट्रो का उद्घाटन कर दिया है। पीएम मोदी ने नोएडा के बॉटनिकल गार्डन स्टेशन पर मेट्रो को हरी झंडी दिखाकर दिल्ली-एनसीआर वासियों को क्रिसमस का शानदार तोहफा दिया है।

लेकिन इससे पहले मेट्रो की मजेन्टा लाइन का उद्घाटन करने नोएडा आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा के विरोध में नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट ऑनर्स वेलफेयर एसोसिएशन नेफोमा के बैनर तले आज सुबह फ्लैट खरीददारों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया।

नोएडा
photo- khabarindiatv

न्यूज़ एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, सैकड़ों की संख्या में फ्लैट खरीददारों ने प्रधानमंत्री जी घर दिलाओ व बिल्डरों की मदद बंद करो के नारे लगाते हुए प्रधानमंत्री की जनसभा की ओर बढ़े। हालांकि पुलिस ने उन्हें सेक्टर-18 मेट्रो स्टेशन पर रोक लिया, इस दौरान फ्लैट खरीददारों व पुलिस के बीच धक्का-मुक्की भी हुई।

सहायक पुलिस अधीक्षक अभिनंदन सिंह ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को संबोधित करता हुआ एक ग्यापन सौंपा है, हमने उसे ले लिया है। प्रदर्शनकारियों को पुलिस दल ने रास्ते में ही रोक दिया था, जिसके बाद वह शांतिपूर्ण तरीके से वापस चले गये।

नेफोमा की महासचिव श्वेता भारती ने कहा कि उन्होंने वर्ष 2010 में फ्लैट बुक कराया था। बिल्डर ने तीन साल में फ्लैट बनाकर देने का वादा किया था। सात-आठ साल गुजरने के बाद भी ना घर मिला और ना हीं मिलता हुआ दिख रहा है।उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ बिल्डर भाग गए हैं, जो बचें हैं वह धन की कमी का हवाला देकर घर नहीं बना रहे हैं।

साथ ही भारती ने कहा कि उन्हें योगी सरकार से बहुत उम्मीद थी लेकिन यह सरकार भी पुरानी सरकारों की तरह बिल्डरों की मदद कर रही है। योगी सरकार के पास कोई ठोस नीति नहीं है जिससे यह भरोसा जगे कि हमें हमारा घर मिल जायेगा।

उन्होंने कहा कि जीवनभर की कमाई जिस घर के लिए हमने लगाई है उस घर के लिए हम लोग सड़क पर धक्के खा रहे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री से मांग की कि बिल्डरों के खिलाफ एक ठोस नीति बनाकर भारत सरकार उन्हें मकान दिलवाए।

बता दें कि, ये लाइन दक्षिणी दिल्ली के कालकाजी मंदिर को सीधा नोएडा के बॉटनिकल गार्डन से जोड़ेगी, 12.64 किलोमीटर लंबा यह सफर अब लगभग 19 मिनट में पूरा होगा।

कालकाजी से बॉटनिकल गार्डन आने वाले यात्री अपनी यात्रा के मौजूदा 52 मिनट के समय को अब मात्र 19 मिनट में पूरा कर सकेंगे। अभी तक यात्रियों को बॉटनिकल गार्डन से पहले मंडी हाउस से ब्लू लाइन पकड़नी पड़ती थी और वहां से कालकाजी जाने के लिए वॉयलेट लाइन की ट्रेन पकड़नी होती थी।

यह पहली ऐसी मेट्रो लाइन होगी, जिस पर चालक रहित (ड्राइवरलेस) मेट्रो दौड़ेगी। शुरुआत में मेट्रो ट्रेन को ड्राइवर ही चलाएंगे, लेकिन बाद में यह स्वचालित मोड पर चलेगी। 25 दिसंबर का दिन डीएमआरसी के लिए भी खास है, इस दिन मेट्रो के 15 साल पूरे हो रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here