अयोध्या मामला: चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच 10 जनवरी को करेगी सुनवाई, सामने आया सभी का नाम

0

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई की अध्यक्षता में सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की संवैधानिक बेंच 10 जनवरी को अयोध्या मामले की सुनवाई करेगी। पांच जजों की बेंच 10 जनवरी को सुबह करीब साढ़े 10 बजे मामले की सुनवाई करेगी। चीफ जस्टिस गोगोई के अलावा जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस एनवी रामाना, जस्टिस यूयू ललित और जस्टिस डीवाई चंद्रचूर्ण इस बेंच में शामिल होंगे। आपको बता दें कि अयोध्या मामले में 10 जनवरी को सुनवाई होनी है।

सुप्रीम कोर्ट

इससे पहले सर्वोच्च अदालत ने शुक्रवार को कहा था कि अयोध्या जमीन विवाद मामले पर 2010 के इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं की सुनवाई नई पीठ करेगी। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा था, “यह राम जन्मभूमि का मामला है। इस पर आगे का आदेश उपयुक्त पीठ 10 जनवरी को पारित करेगी।” प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने मामले में वकीलों को 10 जनवरी को आने को कहा था।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई व न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की पीठ ने कहा था, “इस मामले में आगे का आदेश 10 जनवरी, 2019 को उपयुक्त पीठ द्वारा पारित किया जाएगा, जिसका गठन किया जाएगा।” सबसे खास बात यह है कि यह सुनवाई महज मिनट भर चली थी।

(देखे नोटिस)

शीर्ष अदालत ने 27 सितंबर को हाई कोर्ट के 2010 के फैसले को मुस्लिम वादियों द्वारा पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ को भेजने की चुनौती वाली याचिका खारिज कर दी थी। अदालत ने 27 सितंबर के फैसले में मुस्लिम वादियों की याचिका को 2:1 के बहुमत से खारिज किया था।

तत्कालीन प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा व न्यायमूर्ति अशोक भूषण ने मुस्लिम वादियों की याचिका को खारिज कर दिया था और न्यायमूर्ति एस.अब्दुल नजीर ने मामले को संविधान की वृहद पीठ को भेजने का पक्ष लिया था। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 2010 में दिए अपने फैसले में अयोध्या की विवादित जमीन को रामलला, निर्मोही अखाड़ा और सुन्नी वक्फ बोर्ड- तीनों पक्षों में बराबर बांटने का फैसला सुनाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here