दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, पूर्व सांसद महाबल मिश्रा के बेटे और राम सिंह सहित कई नेता AAP में शामिल

0

दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनाव से ठिक पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस नेता राम सिंह और कांग्रेस के पूर्व सांसद महाबल मिश्रा के बेटे विनय मिश्रा सहित कई नेता सत्ताधारी आम आदमा पार्टी (आप) में शामिल हो गए हैं।गौरतलब है कि, दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के लिए तारीखों की घोषणा कर दी गई है। दिल्ली विधानसभा चुनाव 8 फरवरी को होंगे और परिणाम 11 फरवरी को घोषित किए जाएंगे।

पालम विधानसभा से चुनाव लड़ चुके युवा कांग्रेस नेता विनय मिश्रा सोमवार (13 जनवरी) को सीएम अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए। वह कांग्रेस नेता महाबल मिश्रा के बेटे हैं। इसके अलावा बदरपुर से दो बार विधायक रहे राम सिंह नेताजी, बवाना के रोहिणी वार्ड से पार्षद और समाजसेवक जय भगवान उपकार और गांधीनगर विधानसभा में कार्यकर्ता नवीन दीपू चौधरी कांग्रेस छोड़कर आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए।

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक व दिल्‍ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर लिखा, “दिल्ली के वरिष्ठ नेता और बदरपुर से दो बार विधायक रहे राम सिंह नेता जी ने आज आम आदमी पार्टी का दामन थामा। पार्टी की नीतियों से और हमारी सरकार के कामों से प्रभावित हो कर आज वो हमारे परिवार में शामिल हो रहे हैं। उनका आम आदमी पार्टी में तहेदिल से स्वागत है।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “कांग्रेस पार्टी से पालम विधानसभा से चुनाव लड़ चुके युवा नेता विनय कुमार मिश्र जी ने आज आम आदमी पार्टी का दामन थामा। पार्टी की नीतियों से और हमारी सरकार के कामों से प्रभावित हो कर वो हमारे परिवार में शामिल हो रहे हैं। उनका आम आदमी पार्टी में तहेदिल से स्वागत है।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “बवाना विधानसभा के रोहिणी वार्ड से पार्षद और समाजसेवक जय भगवान उपकार जी ने आज आम आदमी पार्टी का दामन थामा। पार्टी की नीतियों से और हमारी सरकार के कामों से प्रभावित हो कर वो हमारे परिवार में शामिल हो रहे हैं। उनका आम आदमी पार्टी में तहेदिल से स्वागत है।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “लंबे समय से कॉंग्रेस पार्टी से जुड़े हुए गांधीनगर विधानसभा में कार्यरत वरिष्ठ समाजसेवक नवीन दीपू चौधरी जी आज आम आदमी पार्टी में शामिल हुए। पार्टी की नीतियों से और हमारी सरकार के कामों से प्रभावित हो कर वो हमारे परिवार से जुड़े हैं। उनका आम आदमी पार्टी में तहेदिल से स्वागत।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “हरिनगर वार्ड से कॉंग्रेस पार्टी की पूर्व पार्षद राजकुमारी ढिल्लों जी ने आज आम आदमी पार्टी का दामन थामा। पार्टी की नीतियों से और हमारी सरकार के कामों से प्रभावित हो कर वो हमारे परिवार में शामिल हो रहे हैं। उनका आम आदमी पार्टी में तहेदिल से स्वागत है।”

दिल्ली में मुख्य मुकाबला आम आदमी पार्टी (आप) और केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच है। हालांकि, कांग्रेस की स्थिति भी पिछले चुनाव के मुकाबले मज़बूत लग रही है। 2015 में हुए दिल्ली विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी (आप) को रिकॉर्ड जीत मिली थी, आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में से 67 सीटों पर जीत प्राप्त की थी और 3 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी की जीत हुई थी, कांग्रेस एक भी सीट नहीं जीत पाई थी।

हालांकि, 2019 में हुए लोकसभा चुनावों में दिल्ली की सभी सात लोकसभा सीटों पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जीत हुई थी और वोट प्रतिशत के लिहाज से कांग्रेस दूसरे नंबर पर पहुंच गई थी जबकि आम आदमी पार्टी (आप) तीसरे नंबर पर खिसक गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here