कोरोना पर गलत जानकारी फैलाने के आरोप में फेसबुक ने पहली बार अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का पोस्ट हटाया

0

दुनियाभर में तेजी से फैल रहे घातक कोरोना वायरस (Corona virus) को लेकर गलत जानकारी फैलाने के चलते सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी फेसबुक (Facebook) ने पहली बार अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) पर कार्रवाई की है। फेसबुक ने डोनाल्ड ट्रंप के उस पोस्ट को हटा दिया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि कोरोना वायरस (कोविड-19) से लड़ने के लिए बच्चे लगभग इम्यून है। जिसके बाद कंपनी ने गलत सूचना प्रसारण की नीति का हवाला देते हुए इस पोस्ट को हटा दिया।

कोरोना

फेसबुक का कहना है कि ट्रंप का यह दावा उसकी नीतियों का उल्लंघन करता है और कोरोना के बारे में गलत जानकारी फैलता है, इसलिए उनके वीडियो को हटा दिया गया है। यह पहली बार है जब सोशल मीडिया कंपनी ने अमेरिकी राष्ट्रपति के पेज से किसी वीडियो को ‘गलत और खतरनाक जानकारी’ वाला बताते हुए हटाया है।

एक मीडियो चैनल में दिए गए इंटरव्यू का वीडियो डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी फेसबुक पर डाला था, जिसमें उन्होंने कोरोना वायरस और बच्चों को लेकर यह बात कही थी। इस वीडियो क्लिप में फेसुबक ने कहा था कि कोविड-19 से बच्चे लगभग इम्यून हैं। हालांकि, कोरोना वायरस के बारे में जितना जानकारी आई है, उसके मुताबिक बच्चों को भी कोविड-19 हो सकता है और वो बिना किसी लक्षण के दूसरों में ये वायरस फैला भी सकते हैं।

फेसबुक के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘ये वीडियो झूठा दावा करता है। ऐसा कोई तत्थ नहीं है किसी शख्स में कोरोना से लड़ने की क्षमता होती है। लिहाजा ये वीडियो हमारी नीतियों का उल्लंघन है।’ इसके अलावा ट्विटर ने इस वही लिंक अपनी साइट से हटा दिया था। ट्विटर ने अपनी नीति का हवाला देते हुए कहा था कि ये भ्रामक सूचनाओं को फैलाने का उल्लंघन करता है।

बुधवार सुबह फॉक्स एंड फ्रेंड्स को दिए एक इंटरव्यू में ट्रंप ने तर्क दिया कि देश भर में अब सारे स्कूल को खोलने का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि बच्चों में कोरोना वायरस से लड़ने की क्षमता है। लेकिन न तो WHO की तरफ से और न ही अमेरिका की तरफ से ऐसी कोई एडवाइजरी जारी की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here