फिल्मी कलाकारों पर BJP प्रवक्ता के विवादित बयान पर शेखर सुमन ने पूछा- क्या स्मृति ईरानी का आईक्यू नहीं है?

0

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) और नोटबंदी पर की गई टिप्पणी के कारण अभिनेता विजय अभिनीत तमिल फिल्म ‘मर्सल’ विवादों में आ गई है। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने इस फिल्म को लेकर विरोध दर्ज कराया है। इस बीच फिल्म का विरोध कर रही बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव के इंटरव्यू में फिल्मस्टार्स को लेकर कही गई बात के बाद फिर से विवाद खड़ा होता दिखाई दे रहा है।बीजेपी प्रवक्ता के विवादित बयान पर बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता और डायरेक्टर फरहान अख्तर ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। फरहान अख्तर ने बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव के एक बयान को शेयर करते हुए ट्विटर पर उन्हें धमकी भरे लिहाज में चेतावनी तक दे दी है। फरहान अख्तर ने जीवीएल नरसिम्हा राव से पूछा है कि आपकी हिम्मत कैसे हुई ये कहने की कि फिल्मी कलाकारों का बौद्धिक स्तर कम होता है।

दरअसल, टाइम्स नाउ पर डिबेट के दौरान नरसिम्हा राव ने कहा कि अधिकांश भारतीय फिल्म स्टार्स का आईक्यू और जनरल नॉलेज कम होता है। बीजेपी नेता के इस बयान पर फरहान अख्तर ने कड़ी आपत्ति जताई है। फरहान ने इस बयान पर नरसिम्हा राव को टैग करते हुए रविवार (22 अक्टूबर) को लिखा है कि आपकी हिम्मत कैसे हुई सर? साथ ही उन्होंने फिल्म कलाकारों पर भी निशाना साधते हुए कहा है कि आप सबको शर्म आनी चाहिए, देखिए ये आप लोगों के बारे में क्या कह रहे हैं।

फरहान अख्तर के इस ट्वीट के जवाब जीवीएल नरसिम्हा राव ने ट्वीट कर जवाब देते हुए लिखा है कि, ओपिनियन शेयर करना हिम्मत नहीं होती। काम के लिए स्टार्स की रेस्पेक्ट करते हैं। कृपया इनटॉलरेंस नहीं।

शेखर सुमन ने पूछा- क्या स्मृति ईरानी का आईक्यू नहीं है?

इस विवाद में अब बॉलीवुड के एक और मशहूर अभिनेता शेखर सुमन भी कूद पड़े हैं। बॉलीवुड हंगामा से बात करते हुए शेखर सुमन ने कहा कि बीजेपी प्रवक्ता का बयान बेवकूफी भरा है। उन्होंने कहा कि जब फिल्मी सितारों का आईक्यू कमजोर है तो आपने स्मृति ईरानी, शत्रुघ्न सिन्हा, विनोद खन्ना, धर्मेंद्र या हेमा मालिनी जैसे कलाकारों को बीजेपी में शामिल होने और पार्टी के लिए प्रचार करने की अनुमति क्यों दी? आप (जीवीएल नरसिम्हा राव) इन्हें कैबिनेट मंत्री क्यों बनाते हैं? उन्होंने बीजेपी प्रवक्ता से सवाल करते हुए पूछा है कि क्या श्री नरसिम्हा राव यह कहने की कोशिश कर रहे हैं कि केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी का आईक्यू नहीं है?

कई हस्तियों ने ‘मर्सल’ का किया समर्थन

आपको बता दें कि तमिल फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत, कमल हासन समेत कई कलाकारों ने फिल्म ‘मर्सल’ को सपोर्ट किया था। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्विटर पर फिल्म का समर्थन किया था। साथ ही प्रोड्यूसर्स गिल्ड ने भी फिल्म को लेकर सेंसर बोर्ड के रवैए की तारीफ की है। दरअसल, इस फिल्म में वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) का कथित तौर पर उपहास उड़ाया गया है।

बीजेपी का आरोप है कि फिल्म में नोटबंदी और जीएसटी को नकरात्मक ढंग से दिखाया गया है। बीजेपी ने इस फिल्म का विरोध किया करते हुए जीएसटी के विरोध वाले डायलॉग को हटाने की मांग की थी। केंद्रीय मंत्री पी राधाकृष्णन ने मांग की है कि उन संवादों को फिल्म से निकाला जाना चाहिए जो उनके अनुसार जीएसटी के बारे में असत्य हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here