उत्तर प्रदेश में दिल दहला देने वाली घटना, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में दलित ग्राम प्रधान के पति को बदमाशों ने जिंदा जलाया

0

उत्तर प्रदेश के अमेठी में एक और दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में दलित ग्राम प्रधान के पति को राजनीतिक दुश्मनी के कारण बदमाशों ने कथित तौर पर जिंदा जलाकर मार डाला। घटना के बाद गांव में तनाव है और पुलिस बल तैनात किया गया है।

उत्तर प्रदेश
फोटो: सोशल मीडिया

वह गुरुवार की देर रात बंदोइया गांव के बाहरी इलाके में आग की लपटों में घिरे पाए गए थे और स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचित किया। उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन बुरी तरह से जले होने के कारण शुक्रवार को उन्होंने दम तोड़ दिया। मृतक की पहचान 50 वर्षीय अर्जुन के रूप में हुई है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है और मौजूदा तनाव को देखते हुए गांव में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

उनकी पत्नी छोटका ने कहा कि उनके पति किसी काम से बाहर गए थे और गुरुवार की देर रात तक घर नहीं लौटे। वह ग्राम प्रधान हैं। उन्होंने कहा कि, हमें फिर जानकारी दी गई कि उन्हें गांव के बाहर सुनसान जगह पर आग के हवाले कर दिया गया। यह राजनीतिक रंजिश के कारण किया गया है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने स्थानीय पुलिस अधिकारियों से बात की है और मामले में सख्त कार्रवाई के लिए कहा है।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधान ने गांव के ही पांच लोगों पर पति को जिंदा जलाने का आरोप लगाया है। परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस मामले में अब तक तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। अमेठी के एसपी दिनेश सिंह से कहा, “पुलिस को कल रात करीब 12 बजे सूचना मिली कि प्रधानपति अर्जुन जली हालत में कृष्णा कुमार के अहाते में पड़े हैं। उन्हें फौरन लोकल पीएचसी में प्राथमिक उपचार के लिए ले जाया गया, वहां से उन्हें सुल्तानपुर ज़िला अस्पताल में रेफर किया गया। आज सुबह जब उन्हें वहां से बेहतर इलाज के लिए लखनऊ ले जाया जा रहा था, तभी रास्ते में उनकी मौत हो गई।”

अर्जुन के घर वालों ने जली हुई हालत में उनका बयान मोबाइल फ़ोन में रिकॉर्ड किया है, जिसमें वह गांव के ही पांच लोगों का नाम ले रहे हैं जिन्होंने उन्हें जलाया था। बयान में इन पांच लोगों- केके तिवारी, आशुतोष, राजेश, रवि और संतोष- के नाम लिए गए हैं। प्रधानपति के घर वालों की तहरीर पर पुलिस ने पांचों आरोपियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here