तीन गैंगरेप की घटनाओं से हिला हरियाणा, जिंद के बाद अब पानीपत में दलित छात्रा से गैंगरेप के बाद हत्या

0

देश में आज भी महिलाओं और बच्चियों के साथ बलात्कार की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं, यहां मासूम बच्चियां घिनौने अपराधों का शिकार हो रही है, जिसका ताजा मामला हरियाणा से सामने आया है।

Arjuna awardee

हरियाणा के जींद में नाबालिग से ‘निर्भया’ जैसी वारदात के बाद अब पानीपत में छठी क्लास में पढ़ने वाली 11 साल की दलित लड़की की हत्या कर दरिंदगी की वारदात सामने आई है। आरोप है कि पानीपत में शनिवार की रात को छात्रा का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप किया गया, बाद में उसकी गला दबाकर हत्या कर दी गई। छठी क्लास में पढ़ने वाली मासूम बच्ची अपने नानी के घर रहती थी।

नवभारतटाइम्स.कॉम की ख़बर के मुताबिक, हरियाणा में पानीपत जिले के उरलाना कलां गांव के राजकीय स्कूल में छठी कक्षा की 11 वर्षीय छात्रा शनिवार की शाम को कूड़ा डालने के लिए घर से निकली थी और इसी के बाद से बच्ची लापता हो गई। परिजनों ने उसकी तलाश की लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा। रात 12 बजे के करीब परिजन थाना मतलौडा की गांव उरलाना स्थित चौकी पहुंचे और घटना की सूचना दी।

पुलिस ने शिकायत लेकर बच्ची की तलाश शुरू की, लेकिन रात भर तलाश के बाद बच्ची का कोई सुराग नहीं लगा। रविवार की सुबह बच्ची की नानी उसकी तलाश करते हुए मंदिर वाली चौपाल के पास पहुंचीं तो उन्हें बच्ची का शव नग्न अवस्था में पानी से भरे गड्ढे में पड़ा मिला।

सूचना पर बड़ी संख्या में ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंच गए। इस घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। डीएसपी मतलौडा क्षेत्र संदीप मलिक और थाना मतलौडा पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस ने जांच के बाद, फरेंसिक टीम से भी शव और घटनास्थल समेत अन्य कई स्थलों की जांच करवाई।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस को बच्ची के पोस्टमॉर्टम के लिए शव नहीं उठाने दिया और हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा घटनास्थल पर पहुंचे और शव की जांच की, एसपी राहुल पीड़ित परिवार से मिले।

उन्होंने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि बच्ची के साथ दरिंदगी करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। एसपी के आश्वासन पर ग्रामीण शांत हुए और पुलिस ने बच्ची के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए पानीपत के सिविल अस्पताल भेजा गया।

एसडीएम विवेक चौधरी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि बच्ची की गला दबा कर हत्या की गई है। वहीं केस की प्रथम दृष्टि जांच में बच्ची के साथ दुष्कर्म होने की घटना से इनकार नहीं किया जा सकता। वैज्ञानिक जांच की रिपोर्ट में ही केस की पूरी सच्चाई पता चलेगी।

मतलौडा पुलिस ने गांव के ही दो युवक प्रदीप और सागर को हिरासत में लिया है। कथित आरोपियों में से एक के घर से बच्ची के जले हुए कपड़े के बचे हिस्से और चप्पल बरामद की। पुलिस ने घटनास्थल से खून के दाग की भी फरेंसिक टीम से जांच करवाई। पुलिस ने ऐसे स्थलों की भी जांच की है जहां पर बच्ची का शव घसीटे जाने के निशान हैं।

बता दें कि, इससे पहले शनिवार को हरियाणा के जींद जिले में 15 वर्षीय एक किशोरी का शव नहर किनारे मिला था। पीड़िता के पिता ने दोषियों के लिए सख्त सजा की मांग की है।

वहीं, जींद और पानीपत की घटना के बाद रविवार को फरीदाबाद में भी गैंगरेप का मामला सामने आया है। यहां एक 22 साल की लड़की को तीन लोगों ने अगवा कर कार में गैंगरेप किया।

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, फरीदाबाद क्राइम ब्रांच के एसीपी के मुताबिक, लड़की के सिर और शरीर पर चोट के निशान पाए गए हैं। गैंगरेप के बाद आरोपी लड़की को सीकरी के पेट्रोल पंप के पास छोड़कर भाग गए। पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है।

इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के मुताबिक इसी बीच हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा ने कहा कि राज्य में कानून और व्यवस्था का पूरा भंग है। ‘यह सरकार सभी मोर्चों पर विफल रही है कानून और व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह से टूट गई है। बच्चें न तो स्कूलों में और न ही घरों में सुरक्षित हैं ऐसे घृणित अपराध बढ़ रहे हैं, लेकिन सरकार नींद में है।’

वहीं, राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि जिंद हत्या के मामले में आरोपी की पहचान की गई है और उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here