नोएडा: मोबाइल कंपनी ‘ओप्पो’ के गेट पर ताला लगा चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, हिंदू रक्षा दल के खिलाफ केस दर्ज

0

देश की राजधानी दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिले के ग्रेटर नोएडा स्थित एक चीनी मोबाइल फैक्ट्री के मुख्य द्वार पर शनिवार दोपहर हिंदू रक्षा दल के कार्यकर्ताओं ने ताला जड़ दिया। इसके बाद अब दक्षिणपंथी संगठन के 30 सदस्यों पर भारतीय दंड संहिता और महामारी रोग अधिनियम की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

नोएडा

गौरतलब है कि, भारत-चीन की सीमा पर 20 जवानों के शहीद होने से गुस्साए लोग चीन के सामानों का बहिष्कार करने की मुहिम चला रहे हैं। धीरे-धीरे दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे भारत में चीनी सामानों के खिलाफ प्रदर्शन तेज होता जा रहा है। इसी क्रम में ग्रेटर नोएडा स्थित चीनी मोबाइल निर्माण कंपनी ‘ओप्पो’ की इकाई के बाहर शनिवार दोपहर हिंदू रक्षा दल के सदस्यों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। बाद में किसी तरह उन्हें वहां से हटाया जा सका।

समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, नोएडा पुलिस ने कहा कि इस विरोध-प्रदर्शन में संगठन के 100 से अधिक सदस्यों ने भाग लिया। पुलिस ने कहा कि इस दौरान हिंदू रक्षा दल के कार्यकर्ताओं ने नारे लगाए और कंपनी को बंद करने की मांग उठाई। जोन-3 के पुलिस उपायुक्त राजेश कुमार ने बताया कि हिंदू रक्षा दल के सदस्यों पर आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। कुमार ने यह भी बताया कि भारतीय और चीनी सेना के बीच झड़प के बाद, ग्रेटर नोएडा में ओप्पो और वीवो की निर्माण इकाइयों के साथ ही एक आवासीय सोसायटी एटीएस ग्रीन्स पारादीसो में पुलिस सुरक्षा तैनात की गई है।

हालांकि, हिंदू रक्षा दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष पिंकी चौधरी का कहना है कि उनके संगठन के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है। उन्होंने कहा, “इस तरह की एफआईआर चीन के खिलाफ विरोध के हमारे संकल्प को हतोत्साहित नहीं करेगी। लोग पूरे देश में विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। पुलिस को लोगों के मूड और भावनाओं का सम्मान करना चाहिए।

गौरतलब है कि, 15 जून को पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में चीन के पीपल्स लिबरेशन आर्मी के सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में एक अधिकारी सहित 20 भारतीय जवना शहीद हो गए थे। चीन ने स्वीकार किया इस झड़प में उसके जवान भी हताहत हुए हैं, लेकिन उसने हताहत सैनिकों की संख्या नहीं बताई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here