PM मोदी ने बताई बुलेट ट्रेन की असलियत, कहा- यह सिर्फ दिखावे के लिए है, पुराना वीडियो हुआ वायरल

0

अपनी बातों और वादों से पीछे हट जाने के लिए मशहूर पीएम मोदी का एक पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस वीडियो में पीएम मोदी कहते है कि बुलेट ट्रेन केवल दिखावे के लिए है। इसमें बैठकर किसी को जाना कोई है?

बुलेट ट्रेन

वीडियो में पीएम मोदी एक कार्यक्रम में लोगों को उत्साहित करते हुए बताते है कि यदी हम छोटा सोचगें तो इससे नहीं चलेगा। हमें बड़ा और बहुत बड़ा सोचना चाहिए। हमें बहुत बड़ी विशाल मात्रा में सोचना चाहिए, बड़े कैनवास पर सोचना चाहिए। लेकिन हम क्या करते है हम बहुत छोटा सोचते है, इससे काम नहीं चलेगा।

इसके बाद पीएम मोदी एक उदाहरण देते है और बताते है कि एक दिन प्रधानमंत्री से मेरी बात हो रही थी उस समय के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मैंने उनसे कहा कि पूरे चीन की चर्चा कहीं नहीं होती, वो भी अगर दुनिया को दिखाते है तो सिर्फ शंघाई ही दिखाते है।

पूरा चायना नहीं दिखाते है। हमें भी पूरी दुनिया को अपनी ताकत दिखाने के लिए कुछ चीजे करनी चाहिए। फिर मैंने प्रधानमंत्री से कहा कि आप एक छोटा सा काम कर दिजिए।

आप अहमदाबाद से मुम्बई बुलेट ट्रेन चालू करा दिजिए। उससे क्या होगा दुनिया को हमारी ताकत का परिचय होगा। उस ट्रेन में बैठकर कोई जाने वाला नहीं है लेकिन दिखाने के लिए सबकुछ करना पड़ता है जी।

इस बात से पीएम मोदी की विचारधारा का सहज ही पता चलता है कि आडम्बर बनाकर दुनिया को और देश के लोगों को आसानी से धोखा दिया जा सकता है। आज आज प्रधानमंत्री बनने पर पीएम मोदी ने यह कर भी दिखाया है।

जबकि कल ही इस वीडियो के वायरल होने से पहले महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने प्रधानमंत्री मोदी पर झूठ बोलने का आरोप भी लगाया और कहा की वह देश की जनता से झूठ बोलते है।  राज ठाकरे ने पीएम मोेदी की बुलेट ट्रेन पर निशाना साधते हुए कहा कि मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन किसके लिए?

ढोकला खाने के लिए। अहमदाबाद में अच्छा ढोकला मिलता है इसलिए बुलेट ट्रेन से वहां जाकर ढोकला खाया जा सकता है, लेकिन उससे अच्छा ढोकला तो यहां भी मिलता है। ढोकला खाने के लिए बुलेट ट्रेन चलाई जा रही है।

आगे उन्होंने कहा कि गुजरात और मुंबई में गुजरातियों की सुविधा के लिए आप 1,10,000 करोड़ रुपये के ऋण के साथ एक बुलेट ट्रेन बना लेंगे। मुंबई से मेट्रो ट्रेन चल रही है और सीटों की कीमतें बहुत ज्यादा हैं। यहां घर खरीदने के लिए मुश्किल हो गया है। मराठी लोगों के महत्व को कम करने के लिए मेट्रो की योजना बनाई गई है।

इस परियोजना की कुल अनुमानित लागत करीब 1.10 लाख करोड़ रुपये का है, जिसमें 88 हजार करोड़ का कर्ज जापान देगा। इस कर्ज का ब्याज मात्र 0.1 फीसदी होगा, जिसे 50 साल में चुकाना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here