वीडियो: BJP महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के विधायक बेटे आकाश विजयवर्गीय की गुंडागर्दी, नगर निगम के अधिकारी को सरेआम क्रिकेट बैट से पीटा

1

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे और मध्य प्रदेश से भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं। आकाश का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है कि जिसमें वह इंदौर में क्रिकेट बैट से नगर निगम के एक अधिकारी की पिटाई करते हुए नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि अधिकारी अतिक्रमण विरोधी अभियान के लिए क्षेत्र में थे।

आकाश विजयवर्गीय की गुंडागर्दी का वीडियो समाचार एजेंसी एएनआई ने जारी किया है। वीडियो में आकाश विजयवर्गीय जर्जर मकान तोड़ने गए इंदौर नगर निगम के एक अधिकारी को पीटते हुए नजर आ रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, भाजपा विधायक ने अधिकारी को पहले क्रिकेट बैट से मारा, फिर धक्कामुक्की की और गाली भी दी। आरोप है कि बाद में आकाश के समर्थक भी कथित तौर पर अधिकारी को पीटने लगे।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, नगर निगम द्वारा शहर में चिन्हित किए गए अति खतरनाक मकानों को तोड़ने की कार्रवाई की जा रही है। इस दौरान गंजी कंपाउंड क्षेत्र में एक जर्जर मकान को तोड़ने के लिए निगम की टीम पहुंची थी। इस दौरान तीन नंबर क्षेत्र से भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय भी वहां पहुंच गए। उन्होंने निगम अधिकारियों को धमकी देते हुए कहा कि आप पांच से दस मिनट में यहां से नहीं गए तो आगे जो होगा इसकी जिम्मेदारी आपकी होगी।

इसके बाद उनके साथ मौजूद लोगों ने पोकलेन की चाबी भी निकाल ली। इसके बाद निगम के अधिकारियों और विधायक के बीच जमकर विवाद हो गया और मारपीट होने लगी। रिपोर्ट के मुताबिक, आकाश विजयवर्गीय ने पोकलेन मशीन पर पथराव कर उसे फोड़ दिया। इसके बाद विधायक और भड़क गए और उन्होंने क्रिकेट बैट से निगम कर्मचारियों पर हमला कर दिया। बता दें कि विधायक आकाश भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र है।

सरकारी अधिकारी को सरेआम क्रिकेट बैट से पीटने के बाद BJP विधायक आकाश विजयवर्गीय ने कहा, “यह सिर्फ शुरुआत है, हम इस भ्रष्टाचार और गुंडई को खत्म करेंगे। ‘आवेदन, निवेदन और फिर दना दन ’ यह हमारा कदम होगा।” उन्होंने आगे कहा कि गैंग ने महिलाओं को उनके घरों से बाहर खींच लिया, महिला पुलिस को उनके साथ होना चाहिए था। जब मैं वहां पहुंचा, तो लोग अधिकारियों पर गुस्सा थे और वे उनका पीछा कर रहे थे। हम पुलिस स्टेशन पर उन अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज कराने आए हैं।

आकाश विजयवर्गीय इससे पहले उस वक्त चर्चा में आए थे, जब उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर बेहद विवादित बयान दिया था। आकाश विजयवर्गीय ने कहा था कि ‘पप्पू’ एक हानिरहित नाम था, लेकिन अब राहुल गांधी राष्ट्र विरोधी की तरह काम करने लगे हैं। इसलिए अब हमने उनके नाम को पप्पू से बदलकर ‘गधों का सरताज’ रख दिया है।आकाश के इस बयान को सोशल मीडिया पर तीखी आलोचना हुई थी। यूजर्स ने इसे शर्मनाक करार देते हुए आकाश विजयवर्गीय के पिता और भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय पर निशाना साधा था।

1 COMMENT

  1. इस काम के लिए आकाश जी को बी जे पी युवा मोर्चा का अध्यक्ष बनाया जाय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here