साध्वी प्रज्ञा के विवादित बयान पर बोले असदुद्दीन ओवैसी- पीएम के कार्यक्रम का खुलकर विरोध कर रही हैं बीजेपी सांसद

0

मध्य प्रदेश के भोपाल लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। इस बार उन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान का मजाक बनाने का आरोप लगा है। उन्होंने रविवार को सीहोर जिले में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था कि वह आपकी (जनता की) नाली एवं शौचालय साफ करने के लिए सांसद नहीं बनीं हैं। उनके इस बयान पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने जोरदार हमला किया है। असदुद्दीन ओवैसी ने प्रज्ञा ठाकुर पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने अपने बयान से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम को चैलेंज कर रही हैं।

असदुद्दीन ओवैसी
फाइल फोटो

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, असदुद्दीन ओवैसी ने भोपाल से भाजपा की सांसद प्रज्ञा ठाकुर द्वारा दिए गए बयान ‘शौचालय साफ करने के लिए सांसद नहीं चुनी गई’ पर प्रतिक्रिया में कहा, ‘न ही मुझे इस पर आश्चर्य है और न ही मैं ऐसे अप्रिय बयान से हैरान हूं। उन्होंने ऐसा कहा कि क्योंकि यह उनके विचार हैं। सांसद भारत में हो रहे जाति और वर्ग के भेदभाव को मानती हैं।’

ओवैसी ने आगे कहा, ‘वह (प्रज्ञा ठाकुर) यह भी स्पष्ट रूप से बताती हैं कि देश में जातियों ने जिस तरह का काम परिभाषित कर रखा है, उसे जारी रखना चाहिए। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। साथ ही, उन्होंने प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का खुलकर विरोध किया है।’

बता दें कि विवादित बयानों के लिए चर्चा में रहने वाली प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा है कि वह जनता की नालियां और शौचालय साफ करने के लिए सांसद नहीं बने हैं। प्रज्ञा के इस बयान का वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

वायरल वीडियो में प्रज्ञा कह रहीं है कि, ‘‘तो ध्यान रखो, हम नाली साफ करने के लिए नहीं बने हैं। ठीक है ना। हम आपके शौचालय साफ करने के लिए बिलकुल नहीं बनाए गए हैं। हम जिस काम के लिए बनाये गये हैं, वह काम हम ईमानदारी से करेंगे। यह हमारा पहले भी कहना था, आज भी कहना है और आगे भी कहेंगे।’’ प्रज्ञा का यह बयान इस सफाई अभियान के खिलाफ माना जा रहा है।

गौरतलब है कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दो अक्टूबर 2014 को देश भर में एक राष्ट्रीय आंदोलन के रूप में स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत की थी। इसके तहत मोदी ने स्वयं झाड़ू उठाई थी। इसके बाद कई नेताओं, अभिनेताओं और जिलाधिकारियों सहित कई हस्तियों ने भी इस सफाई अभियान में भाग लिया था।

बता दें कि इससे पहले लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान साध्वी प्रज्ञा ठाकुर गोडसे पर दिए गए अपने बयान को लेकर चर्चा में थीं। अभिनेता से राजनेता बने कमल हासन के गोडसे को पहला हिंदू आतंकी बताने के बयान पर जब साध्वी से प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा था, ‘गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे।’ उनके इस बयान पर पीएम मोदी ने कहा था कि वह उन्हें कभी दिल से माफ नहीं कर पाएंगे। वहीं, एक अन्य बयान में उन्होंने कहा था कि उन्होंने मुंबई एटीएस प्रमुख हेमंत करकरे को श्राप दिया था और इसके एक माह बाद आतंकवादियों की गोलियों से उनकी मौत हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here