अर्नब गोस्वामी और रिपब्लिक टीवी को मलयालियों का गुस्सा पड़ा महंगा, जानिए कैसे?

0

एनडीए के राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर और बीजेपी समर्थक मोहनदास की मदद से बड़े ही धमाके के साथ 6 मई 2017 को अपने नए इंग्लिश चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ को लॉन्च करने वाले वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी और उनके चैनल को मंगलवार को मलयालियों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा।

मलयालियों ने हजारों की संख्या में फेसबुक पर रिपब्लिक टीवी के खिलाफ एक जोरदार अभियान चलाया। इस विरोध की वजह से रिपब्लिक टीवी के पेज की रेटिंग 5 से 2 पर आ गई। इतना ही नहीं कुछ ही मिनटों में, 24 हजार से अधिक यूजर्स ने चैनल के पेज को वन (1) स्टार दिया, जो सबसे कम रेटिंग माना जाता है।

दरअसल, केरल में आरएसएस कार्यकर्ताओं और सीपीआई(एम) के कार्यकर्ताओं के साथ चल रहे राजनीतिक हिंसा को लेकर डिबेट के दौरान लेफ्ट के एक नेता पर गोस्वामी भड़क गए। बता दें कि, केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने केरल में राजनीतिक हिंसा का शिकार बनने के कारण मारे गए आरएसएस कार्यकर्ता राजेश के परिजनों से उनके आवास पर मुलाकात की थी।

दरअसल, शुक्रवार(4 अगस्त) को इस मसले पर डिबेट के दौरान अर्नब ने कहा कि ‘देश यह जानना चाहता है कि इन राजनैतिक हत्याओं के पीछे कौन है और क्या केरल में आरएसएस कार्यकर्ताओं की निर्दयी हत्याओं से वामपंथी सहिष्णु हो सकते हैं?’ इस डिबेट के दौरान गोस्वामी द्वारा कथित तौर पर पक्षपातपूर्ण रुख को लेकर मलयाली भाषा के लोग नाराज हो गए।

बता दे कि इससे पहले सुनंदा पुष्कर की मौत मामले में गलत रिपोर्टिंग रोकने के लिए कांग्रेसी सांसद शशि थरूर द्वारा दिल्ली हाई कोर्ट में दायर की याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने शुक्रवार(4 अगस्त) को पत्रकार अर्नब गोस्वामी और उनके समाचार चैनल रिपब्लिक टीवी को जमकर फटकार लगाई थी।

दिल्ली हाई कोर्ट ने सुनंदा पुष्कर मौत मामले में कांग्रेस सांसद शशि थरूर की याचिका पर अर्नब गोस्वामी और उनके चैनल रिपब्लिक टीवी से जवाब मांगते हुए कहा था कि वे सांसद के ‘‘चुप रहने के अधिकार’’ का सम्मान करें। गौरतलब है कि थरूर ने अपनी पत्नी सुनंदा की मौत के मामले की ‘गलत रिपोर्टिंग’ पर रोक लगाने का अनुरोध करते हुए याचिका दायर की थी।

मंगलवार को 57,000 से अधिक सोशल मीडिया यूजर्स ने फेसबुक पर रिपब्लिक टीवी के फेसबुक पेज को 1 स्टार पर ला दिया था। जबकि इस विरोध के पहले चैनल के पेज की रेटिंग 4 थी, हालांकि कुछ देर बाद यह रेटिंग 2 पर पहुंच गई है। यह विरोध बढ़ता देख गोस्वामी ने कथित तौर पर पेज की रेटिंग सुधारने पर काम करना शुरू कर दिया।

देखिए गुस्साएं फेसबुक यूजर्स द्वारा पोस्ट की गई कुछ टिप्पणियां

Arnab should start this propaganda channel in Saudi Arabia or North Korea, they'd love it. But we Indians still prefer an unbiased fourth pillar of democracy.

Posted by Dhruv Rathee on Monday, August 7, 2017

Grow some spine and question the Government. If you have to be the spokesperson of the Government, might as well remove this facade of being a News agency

Posted by Celine Mary on Tuesday, August 8, 2017

The new era of controlled media in a fascist state has its symbol, Republic TV news….News with Goebbels fiction writing.

Posted by Mayank Saxena on Wednesday, August 9, 2017

भाई RepubLick नाम सही रखा है ,भाजपाइयों का चैनल है , दिन रात चाट रहा है ।।Shame on u

Posted by Mohammad Arif Khan on Tuesday, August 8, 2017

If only I could give it a negative rating! Would've given it five stars if it had been listed as a parallel universe reality show. It's definitely not a news channel!

Posted by Akshay Marathe on Wednesday, August 9, 2017

I tried watching it but couldn't stand it more than a few minutes. It sounded like BJP's propaganda on steroids than a news channel.

Posted by Siddharth Verma on Tuesday, August 8, 2017

A perfect case study of what a news channel should not be. Having been in this profession for close to 15 years I am…

Posted by Naveen R Nair on Tuesday, August 8, 2017

Republic TV is a mere propaganda channel funded by the Rajya Sabha MP Rajeev Chandrashekar, who is part of the Govt. On…

Posted by Gaurav Pandhi on Tuesday, August 8, 2017

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here