उत्तर प्रदेश: अखिलेश यादव की मौजूदगी में सपा में शामिल हुए अंशुल वर्मा, आज ही बीजेपी मुख्यालय में जाकर ‘चौकीदार’ को सौंपा था इस्तीफा

0

उत्तर प्रदेश की हरदोई सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद अंशुल वर्मा ने टिकट नहीं मिलने से नाराज होकर बुधवार (27 मार्च) को पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा लखनऊ में पार्टी कार्यालय पर तैनात ‘चौकीदार’ को सौंपा। बीजेपी से इस्तीफा देने के कुछ देर बाद ही अंशुल वर्मा समाजवादी पार्टी (सपा) में शामिल हो गए।

अंशुल वर्मा
फोटो: ANI

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में सपा में शामिल हुए अंशुल वर्मा ने कहा, ‘मैं सपा में बिना शर्त शामिल हुआ है। टिकट नहीं दिए जाने के पीछे शायद मेरी गलती यह थी कि मैंने पासी समुदाय के एक सम्मेलन के दौरान मंदिर परिसर में शराब बांटने के खिलाफ आवाज उठायी थी।’

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘मुझे उस पर दु:ख हुआ था और मैंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस बारे में पत्र भी लिखा था।’ वर्मा ने आगे कहा कि उनकी गलती ये भी हो सकती है कि उन्होंने अपने नाम के पहले ‘चौकीदार’ शब्द नहीं जोड़ा।

बता दें कि इस बार बीजेपी ने हरदोई से अंशुल वर्मा का टिकट काटकर जय प्रकाश रावत को उम्मीदवार बनाया गया है। अंशुल टिकट कटने के बाद से ही बगावती तेवर में नजर आ रहे थे। सांसद ने बीजेपी के कैंपेन मैं ‘भी चौकीदार’ पर तंज कसते हुए बीजेपी के प्रदेश कार्यालय में तैनात ‘चौकीदार’ को अपना इस्तीफा सौंपा।

इस्तीफा सौंपने के बाद पार्टी के प्रदेश कार्यालय से निकलते हुए अंशुल ने कहा कि, ‘विकास किया है, विकास करेंगे, अंशुल थे अंशुल ही रहेंगे, चौकीदार न कहेंगे।’

बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘चौकीदार’ शब्द अपने नाम के साथ जोड़ा है। यह काम लाखों बीजेपी समर्थकों ने भी किया और बीजेपी ने इसे एक मुहिम के तौर पर चलाया। बीजेपी ने यह मुहिम कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी के ‘चौकीदार चोर है’ के आरोपों के बाद आरंभ किया और कांग्रेस को जवाब देने के लिए लोगों को अपने साथ जोड़ने के लिए यह किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here