अन्ना हजारे ने मोदी सरकार पर बोले हमला, कहा- देश में किसानों की आत्म हत्या के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार

0

भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने वाले समाजसेवी अन्ना हजारे ने एक बार फिर से केंद्र सरकार पर हमला बोला है।अन्ना ने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए रविवार (24 दिसंबर) को उसके खिलाफ आगामी 23 मार्च को दिल्ली में अनशन करने तथा जेल भरो आंदोलन चलाने का एलान किया।

अन्ना हजारे
photo- Republic Hindi

न्यूज़ एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, अन्ना हजारे ने सम्भल में नगर पालिका मैदान पर भारतीय किसान यूनियन की राष्ट्रीय किसान महापंचायत में कहा कि आज देश का किसान बदहाल है। देश में किसानों द्वारा आत्म हत्या के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार है।

सरकार ने किसानों के प्रति कल्याणकारी स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू नहीं की। केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार को उन्होंने कई बार पत्र भी लिखे लेकिन कुछ नहीं हुआ।

साथ ही उन्होंने केन्द्र सरकार की नीतियों का विरोध करते हुए कहा कि मोदी सरकार को मौका देने के लिए वह साढ़े तीन साल तक कुछ नहीं बोले, लेकिन सरकार को किसान की नहीं उद्योगपतियों की चिंता है। उसने लोकपाल को कमजोर कर दिया है। मोदी जो कदम उठा रहे हैं उससे लोकतंत्र खतरे में है और देश हुकुम शाही की तरफ जा रहा है।

केन्द्र की पूर्ववर्ती कांग्रेसनीत संप्रग सरकार के खिलाफ भी पुरजोर अभियान चला चुके हजारे ने किसानों की समस्याओं को लेकर 23 मार्च को दिल्ली के रामलीला मैदान में अनशन करने और देश भर में जेल भरो आंदोलन चलाने का एलान किया।

समाजसेवी अन्ना हजारे ने कहा कि देश के सभी राज्यो में अनशन के साथ अहिंसक तरीके से जेल भरो आंदोलन किया जाएगा। जब तक किसानों की बात नहीं मानी जायेगी तब तक लड़ाई जारी रहेगी। उन्होंने किसानों से अपने आंदोलन को समर्थन देने की अपील भी की।

गौरतलब है कि 2011 में जनलोकपाल के मुद्दे पर अन्ना हजारे ने अरविंद केजरीवाल और अन्य सहयोगियों के साथ यूपीए सरकार के खिलाफ अनशन किया था। हालांकि राजनीतिक पार्टी बनाने के मुद्दे पर वह केजरीवाल से अलग हो गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here