जासूसी के आरोप में वायुसेना का ग्रुप कैप्टन गिरफ्तार, व्हाट्सएप्प के जरिए महिला को गोपनीय दस्तावेज भेजने का शक

0

दिल्ली में वायुसेना के मुख्यालय में तैनात एक ग्रुप कैप्टन रैंक के अधिकारी को कथित तौर पर जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। भारतीय वायुसेना के इस अधिकारी को वायुसेना की काउंटर इंटेलिजेंस यूनिट ने जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया है। अधिकारी वायुसेना मुख्यालय में बतौर प्रशिक्षक तैनात है।न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, सोशल मीडिया पर फेसबुक के माध्यम से अधिकारी की महिला से दोस्ती हुई थी। इसके बाद दोनों व्हाट्स एप के माध्यम से बात करने लगे। अधिकारी ने कुछ जरूरी दस्तावेज महिला को भेजे। अधिकारी की पहुंच कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों तक बताई गई है।

अधिकारियों को आशंका है कि ग्रुप कैप्टन को हनी ट्रैप में फंसाया गया। इसमें और लोगों के शामिल होने की आशंका है। सेनाओं में प्रत्येक दस्तावेज को सुरक्षा के तहत अलग अलग श्रेणियों में रखा जाता है। पत्र की प्रत्येक कॉपी को एक नंबर दिया जाता है और उस पर संबंधित अधिकारी का जारी किया जाता है।

ग्रुप कैप्टन पर आरोप है कि उसने संवेदनशील दस्तोवेजों को हासिल करने की कोशिश की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि जांचकर्ता ये भी जांच कर रहे हैं कि क्या अधिकारी हनीट्रैप का शिकार हुए हैं? शक है कि वो वॉट्सऐप के जरिए महिला को गोपनीय दस्तावेजों की तस्वीरें भेज रहे थे।

सूत्रों ने बताया कि इस बात की भी जांच की जा रही है कि क्या वो पाकिस्तान से चलाए जा रहे किसी बड़े जासूसी गिरोह का हिस्सा हैं। सूत्रों ने बताया कि अधिकारी अनाधिकृत इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के माध्यम से कुछ अवांछित गतिविधियों में संलिप्त थे। ये उपकरण प्रतिबंधित हैं। माना जा रहा है कि ये अधिकारी सोशल मीडिया के जरिए एक महिला के संपर्क में थे जिसकी पहचान अभी तक नहीं हो पाई है।

वायुसेना ने आधिकारिक तौर पर इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है। सूत्रों ने कहा कि अधिकारी की पहचान गुप्त रखी गई है, क्योंकि मामले की जांच जारी है। जांचकर्ता ये भी पता लगा रहे हैं कि अधिकारी ने संवेदनशील सूचनाएं किसी को भेजी तो नहीं हैं। अधिकारियों ने बताया कि अधिकारी संवेदनशील दस्तावेजों को हासिल करने का प्रयास कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here