AAP की तरफ से राज्यसभा के लिए तीनों नाम तय, कुमार विश्वास और आशुतोष का पत्ता कटा

0

आम आदमी पार्टी (AAP) की तरफ से राज्यसभा चुनाव में उम्मीदवार कौन होगा इसका फैसला बुधवार (3 जनवरी) को हो गया है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को इन तीनों नामों का ऐलान करते हुए बताया कि पार्टी ने वरिष्ठ नेता संजय सिंह, चार्टर्ड अकाउंटेंट एन.डी. गुप्ता (नारायण दास गुप्ता) और कारोबारी व सामाजिक कार्यकर्ता सुशील गुप्ता को उम्मीदवार बनाया गया है। इस ऐलान के साथ ही पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास और आशुतोष का पत्ता कट गया है।

फाइल फोटो।

बुधवार को राज्यसभा उम्मीदवारों का नाम तय करने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पार्लियामेंट्री अफेयर्स कमेटी (पीएसी) की बैठक हुई, जिसमें राज्यसभा भेजे जाने वाले इन तीनों नामों पर अंतिम मुहर लगाई गई।सिसोदिया ने आप के तीनों उम्मीदवारों के नाम का ऐलान करते हुए कहा कि पीएसी की बैठक में तीन सीट के लिए पार्टी में 18 उम्मीदवारों पर चर्चा हुई। इनमें 11 बड़े नाम थे। उन्होंने कहा कि हालांकि, कुछ लोग केंद्र सरकार से डर कर पीछे हट गए।

बता दें कि AAP ने पहले तय किया था कि राज्यसभा पार्टी के लोगों की बजाय एक्सपर्ट्स को भेजा जाएगा। इसलिए आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन से लेकर जस्टिस टी.एस.ठाकुर तक कई बड़े नामों से संपर्क किया, लेकिन सभी ने पार्टी के नाम के साथ जुड़ने से इनकार कर दिया। जिसके बाद संजय सिंह, एन.डी. गुप्ता और सुशील गुप्ता का नाम तय किया गया।

बता दें कि संजय सिंह आम आदमी पार्टी के संस्थापक सदस्य हैं। वो अरविंद केजरीवाल और अन्ना आंदोलन के साथ शुरू से ही पार्टी के साथ जुड़े रहे हैं। संजय सिंह के नाम को लेकर पार्टी में किसी भी प्रकार का कोई विवाद भी नहीं था। यहां तक कि पार्टी से नाराज चल रहे कुमार विश्वास के समर्थक भी संजय सिंह के नाम को लेकर कोई आपत्ति नहीं जता रहे हैं।

वहीं, नारायण दास गुप्ता आम आदमी पार्टी के दो साल से चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं। पिछले दो सालों से आम आदमी पार्टी की अकाउंटिंग का सारा काम गुप्ता ही देख रहे हैं। वह दी इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया के उपाध्यक्ष हैं। पार्टी के एक नेता के मुताबिक दिल्ली में जीएसटी के सबसे बड़े जानकारों में से एक गुप्ता हैं।68 वर्षीय गुप्ता चार्टर्ड अकाउंटेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

तीसरे उम्मीदवार सुशील गुप्ता सामाजिक कार्यकर्ता हैं और पूर्व कांग्रेसी नेता रह चुके हैं। कांग्रेस के टिकट पर चुनाव हार चुके हैं। रिपोर्ट के मुताबिक सुशील गुप्ता की 150 करोड़ रुपए की संपत्ति बताई जाती है। उनके दिल्ली में 10 से ज्यादा चैरिटेबल हॉस्पिटल और कई स्कूल चल रहे हैं। दिल्ली में राज्यसभा चुनाव 16 जनवरी को होना है। दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों में से 67 सीटें आम आदमी पार्टी के पास है। ऐसे में तीनों सीट पर वह अपने उम्मीदवार निर्विरोध जीता लेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here