यूपी: गाय चोरी के आरोप में दलित युवकों का सिर मुंडवाकर सरेआम शहर में घुमाया, CM योगी के संगठन हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं पर लग रहा है आरोप

0

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में गायों की चोरी के आरोप में कथित तौर पर राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संगठन हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं द्वारा दो दलित युवकों को सिर मुंडाकर शहर में घुमाने का मामला सामने आया है। आरोप है कि युवकों को भीड़ ने पहले पीटा, फिर उनके सिर मुंडवाए और गले में ‘गाय चोर’ का पोस्टर टांग कर पूरे इलाके में घुमाया। ये पूरी घटना नौ जनवरी का है।पुलिस के मुताबिक गाय चोरी के आरोप में प्रवीन श्रीवास्तव की शिकायत पर आरोपी दोनों युवकों किसान उमा (उम्र-22 साल) और सोनू (उम्र-22 साल) को धारा 379 और 411 (चोरी) के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है। न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक इन दोनों युवकों में से एक ने बाद में पुलिस में अपनी ओर से दर्ज कराई शिकायत में कहा कि सोमवार को हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने उन्हें दो गायों के साथ रोका।

पुलिस को दी शिकायत में उमा राम ने कहा कि हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने उनके बेटे का सिर मुंडवा दिया। इसके बाद उनके गले में टायर लटकाकर पूरे रसड़ा कस्बे में घुमाया गया। यही नहीं उनके गले में ‘हम गाय चोर हैं’ लिखकर प्लेकार्ड्स टांग दिए गए थे। उमा राम की शिकायत पर पुलिस ने एक व्यक्ति के खिलाफ नामजद और 15 अज्ञात पर केस दर्ज कर लिया है। इन लोगों के खिलाफ दलित उत्पीड़न ऐक्ट के तहत भी केस दर्ज किया गया है।

जी न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक उमा राम का आरोप है कि जब वह और सोनू दो गायें खरीदकर रसड़ा कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत नाथ बाबा मठिया के पास से जा रहे थे तभी हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर उन्हें रोक लिया और उनसे मारपीट की। इतना ही नहीं वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने युवकों का सिर मुंडवाकर और उनके चेहरे पर कालिख पोत दी और गर्दन में टायर बांधकर पूरे रसड़ा नगर में घुमाया।

इतना ही नहीं दोनों के हाथ में ‘हम गाय चोर हैं’ लिखी एक तख्ती भी पकड़ा दी। बलिया के एसपी अनिल कुमार ने बताया कि पूरे मामले की जिम्मेदारी पुलिस उपाधीक्षक अवधेश चौधरी को सौंपी गई है। वह मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंपेंगे। यूपी विधानसभा में बसपा के उप नेता उमाशंकर सिंह ने कहा कि गाय चोरी के आरोप को लेकर जिस तरह से हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने बर्बर आचरण किया, वह अत्यन्त दुर्भाग्यपूर्ण है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here