एक और व्यापम की तरफ मध्य प्रदेश ?

0

मध्य प्रदेश में व्हिसलब्लोअर पारस सखलेचा ने आरोप लगाया है कि निजी चिकित्सा महाविद्यालयों के एमबीबीएस पाठ्यक्रम की सीटें बेची जा रही हैं।

एक सीट की बोली 55 लाख रुपये तक लगाई जा रही है।

उन्होंने प्रमाण के रूप में दलालों से की गई बातचीत का ऑडियो टेप इंदौर की अपराध शाखा को सौंपे हैं। पारस सखलेचा ने बुधवार को कहा, “राज्य में निजी चिकित्सा महाविद्यालयों की एमबीबीएस की सीटें बेचने की सौदेबाजी चल रही हैं।”

Also Read:  मध्य प्रदेश: नोट बदलवाने की जद्दोजहद में, बैंक की लंबी लाइन में खड़े रिटायर्ड कर्मी की हार्ट अटैक से मौत

उन्होंने इस काम में लगे दो दलालों और छात्र के परिजनों के बीच हुई बातचीत की रिकार्र्डिंग भी हासिल की है। सखलेचा का दावा है कि दलाल एक सीट के एवज में इंदौर के एक निजी कॉलेज में दाखिला दिलाने के लिए 55 लाख रुपये की मांग कर रहे हैं।

सखलेचा ने कहा, “निजी चिकित्सा व दंत चिकित्सा महाविद्यालयों में दाखिले के लिए गुरुवार आठ अक्टूबर को एसोसिएशन ऑफ डेंटल एण्ड मेडिकल कॉलेजेस ऑफ मध्य प्रदेश (एपीडीएमसीएमपी) द्वारा डीमेट परीक्षा आयोजित की गई है। इससे पहले ही सीटों की बुकिंग की जा रही है।”

Also Read:  राज ठाकरे के लिए रखी आमिर खान ने 'दंगल' की स्पेशल स्क्रीनिंग

उन्होंने आगे कहा कि उनका एक मित्र अपने बेटे का एमबीबीएस में दाखिला दिलाना चाहता था, इसके लिए उसने दलाल से बात की।

दलाल ने 10वीं और 12वीं के अंक पूछे और 55 लाख रुपये में दाखिला दिलाने का दावा करते हुए कॉलेज आने को कहा। यह बातचीत रिकार्ड कर ली गई है।

Also Read:  फ्लाइट के टेकऑफ से पहले ही यात्री ने इमरजेंसी गेट से निकलने लगा बाहर, दर्ज हुई FIR

सखलेचा ने आगे बताया कि मंगलवार को उन्होंने डीमेट में हो रहे फर्जीवाड़े की शिकायत पुलिस महानिरीक्षक बिपिन माहेश्वरी से की है और ऑडियो टेप अपराध शाखा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विनय प्रकाश पाल को सौंपी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here