ISI की मदद से पाकिस्तान में छापे जा रहे है 2000 के नकली नोट, BSF ने 2000 के 40 नकली नोट किए बरामद

0

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काले धन और जाली मुद्रा को निशाना बनाने के लिए 500 और 1000 रुपये के बंद का ऐलान किया था। नोटबंदी के अभी कुछ दिन ही हुए हैं और पाकिस्तान दो हजार रुपये की करेंसी की जाली नोट भी छापने लग गया है। सरकार ने 2000 और 500 के नए नोट जारी करते हुए कहा था कि, इन नए नोटों के सिक्युरिटी फीचर्स को कॉपी करना आसान नहीं होगा। मिली जानकारी के अनुसार, हाल ही में एनआईए और बीएसएफ ने 2000 के 40 नकली नोट बरामद किये हैं।

ISI की मदद से पाकिस्तान में छापे जा रहे है

बता दें कि, 2000 के नए नोट जारी होने के दो महीने के बाद ही पाक में बैठे तस्करों ने भारत-बांग्लादेश बॉर्डर के जरिए जाली नोटों की तस्करी शुरू कर दी है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) भारत-बांग्लादेश बॉर्डर से अब तक कई लोगों को जाली नोटों के साथ पकड़ चुके हैं। ताजा मामला आठ फरवरी का बताया जा रहा है।

सूत्रों के मुताबिक, आठ फरवरी को पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में अजीजुर रहमान नामक शख्स को दो हजार के 40 नकली नोटों के साथ पकड़ा गया था। पूछताछ में उसने खुलासा किया कि जाली नोटों को आईएसआई की मदद से पाक में छापा गया है, जिन्हें बांग्लादेश सीमा से भारत में लाया गया। हर दो हजार के नोट के लिए तस्करों को 500-600 रुपये देने होते थे।

इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित खबर के मुताबिक, तस्कर असली नोट के 17 में से 11 सिक्युरिटी फीचर्स कॉपी करने में कामयाब हो गए हैं। इससे अब नकली नोटों को पहचानना मुश्किल हो गया है। जांच से जुड़े अधिकारियों ने आशंका जाहिर की है जल्द ही ये नकली नोट भारतीय बाजार में पहुंच सकते हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here