मध्य प्रदेश: कैबिनेट में ज्यादातर ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थकों को जगह क्यों? सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दिया ये जवाब

0

मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार का आज मंत्रिमंडल विस्तार हुआ। मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल का दूसरे विस्तार में 28 मंत्रियों को प्रभारी राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। जिन 28 मंत्रियों ने शपथ ली है, उनमें 20 कैबिनेट और आठ राज्यमंत्री है। मंत्रिमंडल के 11 सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक हैं जो करीब चार महीने पहले ही बीजेपी में शामिल हुए हैं।

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश में कैबिनेट विस्तार के तुरंत बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पहली प्रतिक्रिया भी सामने आई है। जब पत्रकारों ने उनसे पूछा गया कि कैबिनेट में ज्योतिरादित्य सिंधिया के ज्यादातर समर्थकों को जगह क्यों दी गई, इस पर उन्होंने कहा कि वे सभी भाजपा के कार्यकर्ता हैं। पार्टी अलग अलग समय में अपने लोगों को अलग अलग जिम्मेदारी देती रहती है।

कैबिनेट मंत्री के तौर पर गोपाल भार्गव, विजय शाह, जगदीश देवड़ा, बिसाहू लाल सिंह, यशोधरा राजे सिंधिया, भूपेन्द्र सिंह, एदल सिंह कंसाना, बृजेन्द्र प्रताप सिंह, विश्वास सारंग, इमरती देवी, प्रभुराम चौधरी, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युम्न सिंह तोमर, प्रेम सिंह पटेल, ओम प्रकाश सकलेचा, उषा ठाकुर, अरविंद भदौरिया, मोहन यादव, हरदीप सिंह डंग, राज्यवर्धन सिह दत्तीगांव ने शपथ ली।

वहीं राज्यमंत्री के रूप में भारत सिंह कुशवाहा, इंदर सिंह परमार, रामखिलावन पटेल, राम किशोर कांवरे, बृजेन्द्र सिंह यादव, गिर्राज दंडोतिया, सुरेश धाकड और ओ पी एस भदौरिया को शपथ दिलाई गई। जिन 28 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई उनमें से 11 सदस्य वो हैं जो पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए हैं। वहीं 17 सदस्य भाजपा के हैं।

शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा मौजूद रहे। राज्य मंत्रिमंडल में 28 सदस्यों के शपथ लेने से कुल मंत्रियों की संख्या 33 हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here