बुंदेलखंड में सियासत का आखाडा बनी ‘वाटर एक्सप्रेस’

0

उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड में रेलवे ने लोगों की प्यास बुझाने के लिए पहल की और 10 वैगन वाली एक ट्रेन 5 लाख लीटर पानी के साथ बुधवार देर शाम रतलाम से झांसी पहुंची, लेकिन इस मामले में एक नया विवाद खड़ा हो गया है।

Also Read:  त्रिपुरा में दीपा कर्माकर का हुआ भव्य स्वागत
Water Express
Water Express

झांसी रेल मंडल के एडीआरएम विनीत सिंह ने बताया कि ‘पानी एक्‍सप्रेस’झांसी रेलवे स्टेशन  पर पहुंच चुकी है। यहाँ से इसे महोबा जाना है लेकिन जब महोबा डीएम वीरेश्वर सिंह से बात हुई तो उन्‍होंने ट्रेन से पानी मंगाए जाने की जरूरत से इनकार कर दिया।

Also Read:  उरण में संदिग्धों के स्केच जारी, स्कूल, कॉलेज को बंद किया गया

ट्रेन को लेकर रेलवे और जिला प्रशासन में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। अब तक यह तय नहीं हो पा रहा है कि इस ट्रेन को कहां भेजा जाए।

बुंदेलखंड की इन दिनों पानी की स्थिति किसी से छुपी नहीं है। स्थानीय लोगो के मुताबिक सबसे बुरी हालत बांदा मंडल के महोबा जिले की है। यहां हालात इतने बदतर हैं कि गांवों में टैंकर द्वारा पहुंचाए जा रहे पानी के लिए मारामारी मच जाती है। इसके बावजूद जिला प्रशासन का पानी लेने से इनकार करना समझ से परे है।

Also Read:  दफ्तर नहीं खाली करने पर केजरीवाल सरकार ने AAP को भेजा 27 लाख का नोटिस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here