विदेश राज्य मंत्री ने लोकसभा में बताया, विजय माल्या और नीरव मोदी समेत 31 कारोबारी CBI से जुड़े मामले में विदेश फरार

0

विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर ने बुधवार(14 मार्च) को लोकसभा में बताया कि शराब कारोबारी विजय माल्या, पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के घोटाले के मुख्य आरोपी और हीरा कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी समेत 31 कारोबारी सीबीआई से जुड़े मामले में विदेश फरार हैं।

फोटो- लल्लन टॉप

न्यूज़ एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, विदेश राज्य मंत्री ने बताया कि विदेश मंत्रालय को विजय माल्या, आशीष जोबनपुत्र, पुष्पेश कुमार वैद्य, संजय कालरा, वर्षा कालरा और आरती कालरा के प्रत्यर्पण के संबंध में सीबीआई से अनुरोध प्राप्त हुआ है और इन्हें विचार के लिये संबंधित देशों को भेज दिया गया है। सन्नी कालरा के संबंध में प्रत्यर्पण संबंधी सीबीआई के आग्रह पर विदेश मंत्रालय विचार कर रहा है। लोकसभा में मो. बदरूद्दोजा खान, कौशल किशोर, मोहम्मद सलीम और रामदास तदस ने विदेश फरार होने वाले ऐसे कारोबारियों की जानकारी एवं सूची मांगी थी।

अकबर ने कहा कि सीबीआई की सूची के अनुसार, सीबीआई से जुड़े मामलों में विदेश फरार होने वाले कारोबारियों में विजय माल्या, सौमित जेना, विजय कुमार रेवा भाई पटेल, सुनील रमेश रूपाणी, पुष्पेश कुमार वैद्य, सुरेन्द्र सिंह, अंगद सिंह, हरसाहिब सिंह, हरलीन कौर, अशीष जोबनपुत्र, जतीन मेहता, नीरव मोदी, नीशल मोदी, अमी नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, चेतन जयंतीलाल संदेशरा, दीप्ति चेतन संदेशरा, नीतीन जयंतीलाल संदेशरा, सभ्य सेठ, नीलेश पारिख, उमेश पारिख, सन्नी कालरा, आरती कालरा, संजय कालरा, वर्षा कालरा, हेमंत गांधी, इश्वर भाई भट, एम जी चंद्रशेखर, चेरिया वी सुधीर, नौशा कादीजथ और चेरिया वी सादिक शामिल हैं।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि प्रवर्तन निदेशालय की सूची के अनुसार जांच से जुड़े मामलों में भारत से फरार होने वाले लोगों में विजय माल्या, जतीन मेहता, ललित मोदी, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, रितेश जैन, संजय भंडारी, नीतीन जयंती संदेशरा, चेतन जयंतीलाल संदेशरा, धर्मेन्दर सिंह आनंद, आशीष जोबनपुत्र और प्रीति जोबनपुत्र के नाम शामिल हैं।

अकबर ने कहा कि सरकार ने ऐसे आर्थिक अपराध करने वाले भगोड़ों के संबंध में संसद में भगोड़े आर्थिक अपराध विधेयक 2018 को आगे बढ़ाने का निर्णय किया है। विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर ने आज लोक सभा में बताया कि विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी समेत 31 कारोबारी सीबीआई से जुड़े मामले में विदेश फरार हैं।

विदेश राज्य मंत्री ने बताया कि विदेश मंत्रालय को विजय माल्या, आशीष जोबनपुत्र, पुष्पेश कुमार वैद्य, संजय कालरा, वर्षा कालरा और आरती कालरा के प्रत्यर्पण के संबंध में सीबीआई से अनुरोध प्राप्त हुआ है और इन्हें विचार के लिये संबंधित देशों को भेज दिया गया है। सन्नी कालरा के संबंध में प्रत्यर्पण संबंधी सीबीआई के आग्रह पर विदेश मंत्रालय विचार कर रहा है।

लोकसभा में मो. बदरूद्दोजा खान, कौशल किशोर, मोहम्मद सलीम और रामदास तदस ने विदेश फरार होने वाले ऐसे कारोबारियों की जानकारी एवं सूची मांगी थी।

अकबर ने कहा कि सीबीआई की सूची के अनुसार, सीबीआई से जुड़े मामलों में विदेश फरार होने वाले कारोबारियों में विजय माल्या, सौमित जेना, विजय कुमार रेवा भाई पटेल, सुनील रमेश रूपाणी, पुष्पेश कुमार वैद्य, सुरेन्द्र सिंह, अंगद सिंह, हरसाहिब सिंह, हरलीन कौर, अशीष जोबनपुत्र, जतीन मेहता, नीरव मोदी, नीशल मोदी, अमी नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, चेतन जयंतीलाल संदेशरा, दीप्ति चेतन संदेशरा, नीतीन जयंतीलाल संदेशरा, सभ्य सेठ, नीलेश पारिख, उमेश पारिख, सन्नी कालरा, आरती कालरा, संजय कालरा, वर्षा कालरा, हेमंत गांधी, इश्वर भाई भट, एम जी चंद्रशेखर, चेरिया वी सुधीर, नौशा कादीजथ और चेरिया वी सादिक शामिल हैं।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि प्रवर्तन निदेशालय की सूची के अनुसार जांच से जुड़े मामलों में भारत से फरार होने वाले लोगों में विजय माल्या, जतीन मेहता, ललित मोदी, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, रितेश जैन, संजय भंडारी, नीतीन जयंती संदेशरा, चेतन जयंतीलाल संदेशरा, धर्मेन्दर सिंह आनंद, आशीष जोबनपुत्र और प्रीति जोबनपुत्र के नाम शामिल हैं।

अकबर ने कहा कि सरकार ने ऐसे आर्थिक अपराध करने वाले भगोड़ों के संबंध में संसद में भगोड़े आर्थिक अपराध विधेयक 2018 को आगे बढ़ाने का निर्णय किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here