मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: सीबीआई के नए खुलासे के बाद बोले तेजस्वी यादव- इस कांड में सीएम नीतीश के करीबी और कई मंत्री शामिल, सरकार को बर्खास्त करें राज्यपाल

0

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस को लेकर केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में एक बड़ा खुलासा किया। सीबीआई के मुताबिक, यौन उत्पीड़न मामले में मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर और अन्य लोगों ने 11 पीड़िताओं की हत्या कर दी थी। इस नए खुलासे के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता व बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव पीएम मोदी व सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा है।

तेजस्वी ने कहा कि, इस पूरे घटना में ब्रजेश ठाकुर के अलावा कई और लोग शामिल हैं। इस केस में नीतीश कुमार के कई करीबी और मंत्री भी शामिल है। राज्यपाल को इस सरकार को बर्खास्त कर देना चाहिए।

तेजस्वी यादव
(File Photo: PTI)

इस खुलासे के बाद तेजस्वी ने सीएम नीतीश कुमार पर निशाना और साथ ही उन्होने मांग की कि राज्यपाल को इस सरकार को बर्खास्त कर देना चाहिए। समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा, इस पूरे घटना में ब्रजेश ठाकुर के अलावा कई लोग शामिल हैं। मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि इस केस में नीतीश कुमार के कई करीबी और मंत्री संलिप्त हैं। राज्यपाल को इस सरकार को बर्खास्त कर देना चाहिए।’

वहीं, तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा, “ज्ञानी, ध्यानी प्रवचनकर्ता पीएम मोदी जी आज फिर बिहार आ रहे है लेकिन इस घिनौने कुकृत्य पर उनकी ज़ुबान नहीं खुलेगी क्योंकि उनके मित्र नीतीश कुमार और बीजेपी के कई मंत्री इस जनबलात्कार कांड में संलिप्त है। CBI के अंतरिम निदेशक को इन बलात्कारियों को बचाने के लिए ही सजा मिली थी।”

तेजस्वी ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “नीतीश कुमार में शर्म बची है तो मुज़फ़्फ़रपुर बालिका गृह बलात्कार कांड में साक्ष्य मिलने के बाद तो अब माफ़ी माँग लेनी चाहिए। नीतीश कुमार ब्रजेश ठाकुर के मुज़फ़्फ़रपुर घर क्या करने जाते थे? उन्होंने उस दरिंदे पर FIR क्यों नहीं की? बाद मे की तो पॉक्सो एक्ट की धारा क्यों नहीं लगाई?”

एक अन्य ट्वीट में तेजस्वी ने लिखा, “हम महामहिम राज्यपाल से अनुरोध करते है कि मुज़फ़्फ़रपुर बलात्कार कांड में नीतीश सरकार की पूर्ण संलिप्तता पाए जाने के बाद इस अनैतिक एवं व्यभिचारी नीतियों और कुछेक दुराचारी मंत्रियों से युक्त सरकार को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त करे तभी बिहार की माताएँ और बहन-बेटी सुरक्षित रह सकेंगी।”

बता दें कि, सीबीआई ने शुक्रवार (3 मई) को सुप्रीम कोर्ट में सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा था कि मुजफ्फरपुर आश्रय गृह यौन उत्पीड़न मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर और उसके सहयोगियों ने 11 लड़कियों की कथित रूप से हत्या की थी। उन्होंने इस बात का भी जिक्र किया कि एक श्मशान घाट से ‘हड्डियों की पोटली’ भी बरामद हुई है।

शीर्ष अदालत में दायर अपने हलफनामे में सीबीआई ने कहा कि जांच के दौरान दर्ज पीड़ितों के बयानों में 11 लड़कियों के नाम सामने आये हैं जिनकी ठाकुर और उनके सहयोगियों ने कथित रूप से हत्या की थी। एजेंसी ने कहा कि एक आरोपी की निशानदेही पर एक श्मशान घाट के एक खास स्थान की खुदाई की गई जहां से हड्डियों की पोटली बरामद हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here