जानिए क्यों, कांग्रेस नेता कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने की खबर पर भड़के बीजेपी नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा

0

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के लिए सरकार बनाने का रास्ता साफ हो गया है। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की सुप्रीमो मायावती ने कल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मध्य प्रदेश में कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान किया। साथ ही बीएसपी प्रमुख मायावती ने यह भी कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो वह राजस्थान में भी कांग्रेस को समर्थन देंगी ताकी वह सरकार बना सके। वहीं, दूसरी और बताया जा रहा है कि मध्य प्रदेश की कमान कमलनाथ को सौंपी जा सकती है। वहीं सीएम के पद के दूसरे दावेदार के तौर पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम भी शामिल है।

कमलनाथ

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस पार्टी आज सीएम का नाम के एलान कर सकती है। वहीं, दूसरी और कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाने की खबर पर दिल्ली भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा भड़क गए है। उन्होंने कहा का कमलनाथ वही व्यक्ति है, जिसने 1984 के सिख नरसंहार के दौरान दिल्ली के रकाबगंज गुरुद्वारे में आग लगाई थी।

तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने ट्वीट कर लिखा, सुना है राहुल गांधी ने 84 के सिख नरसंहार के हत्यारे कमलनाथ को मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्त करने की योजना बनाई है। यह वही व्यक्ति है जिसने रकाबगंज गुरुद्वारा (गुरु तेगबहादुर जी का श्मशान घाट) जलाया था। यह एक बार फिर से कांग्रेस का सिख विरोधी चेहरे का पर्दाफाश कर रहा है।

उन्होंने अपने अगले ट्वीट में लिखा, जब राहुल गांधी ने 1984 सिख नरसंहार के हत्यारे कमलनाथ को पंजाब विधानसभा चुनाव का प्रभारी नियुक्त किया, तो कैप्टन अमरिंदर सिंह ने उनके हटाए जाने तक विरोध किया। अब जब राहुल गांधी उस सिख हत्यारे कमलनाथ को मुख्यमंत्री नियुक्त करने वाले हैं, तो कैप्टन साहब को विरोध करते हुए मुख्यमंत्री पद और कांग्रेस से इस्तीफा देना चाहिए।

बता दें कि राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के चुनाव जीतने के बाद अभी मुख्यमंत्री को लेकर सस्पेंस बरकरार है। अभी तीनों ही राज्यों में मुख्यमंत्री के नाम का एलान नहीं किया गया है। तीनों राज्यों में विधायक दल की बैठक के बाद फैसला पार्टी आलाकमान पर छोड़ दिया गया है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी आज सीएम का नाम के एलान कर सकती है।

बता दें कि राजस्थान की 200 सीटों में से कांग्रेस को 99 मिलीं, जबकि मध्य प्रदेश की 230 में से 114 कांग्रेस को मिली हैं, वहीं छत्तीसगढ़ की 90 सीटों में 68 कांग्रेस के हिस्से में गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here