मेट्रो में यात्रियों की घटती संख्या पर केजरीवाल बोले- किराए में बढ़ोतरी दिल्ली मेट्रो को खत्म कर देगी

0

दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ने से यात्रियों की संख्या तेजी से घटी है। सूचना का अधिकार (आरटीआई) के जवाब में खुलासा हुआ है कि 10 अक्टूबर को किराया बढ़ने के बाद हर रोज तीन लाख से ज्यादा यात्री कम हुए हैं। मेट्रो में रोजाना सफर करने वाले औसत यात्रियों की संख्या सितंबर में 27.4 लाख थी, जो घटकर अक्टूबर में 24.2 लाख रह गई। यात्रियों की तादाद में यह करीब 11 फीसदी की गिरावट है।किरायाइस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस खबर पर तंज कसते हुए बिना नाम लिए मोदी सरकार और दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) पर निशाना साधा है। केजरीवाल ने शनिवार (25 नवंबर) को कहा कि किराए में बढ़ोतरी दिल्ली मेट्रो को खत्म कर देगी।

न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक केजरीवाल ने कहा कि पिछले दिनों जो मेट्रो किराए में वृद्धि हुई है उससे किसी को भी फायदा नहीं हुआ है। दिल्ली मेट्रो में यात्रियों की घटती संख्या पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि किराए में बढ़ोतरी दिल्ली मेट्रो को खत्म कर देगी।

बता दें कि किराए में बढ़ोत्तरी का लगातार विरोध कर रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री ने मेट्रो का किराया बढ़ाने के फैसले को अन्यायपूर्ण बताया था। साथ ही उन्होंने केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखकर मेट्रो रेल के किराए में वृद्धि के प्रस्ताव पर रोक लगाने का अनुरोध किया था।

किराया बढ़ने से रोज 3 लाख यात्री हुए कम

बता दें कि एक पत्रकार द्वारा दाखिल की गई आरटीआई के जवाब में DMRC द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक मेट्रो की सबसे व्यस्त ब्लू लाइन पर यात्रियों की कुल संख्या में 30 लाख की कमी आई है। 50 किमी लंबा यह कॉरिडोर द्वारका को नोएडा से जोड़ता है। गौरतलब है कि पूरे दिल्ली-एनसीआर में मेट्रो का 218 किमी लंबा नेटवर्क है।

दूसरा व्यस्त रूट येलो लाइन है, जो गुरुग्राम को उत्तरी दिल्ली के समयपुर बादली को जोड़ता है। इस मार्ग पर 19 लाख से ज्यादा यात्री कम हुए हैं। DMRC के मुताबिक वायलट लाइन, जो ITO को फरीदाबाद से जोड़ता है, पर अक्टूबर में 11.9 लाख यात्री घटे हैं। जबकि रेड लाइन (जो दिलशाद गार्डन को रिठाला से कनेक्ट करता है) पर 7.5 लाख यात्री घट गए।

अक्टूबर 2016 में मेट्रो में सफर करने वाले औसत यात्री 27.2 लाख थे, जबकि आज की तुलना में उस समय मेट्रो का रूट छोटा था। गौरतलब है कि पिछले महीने 10 अक्टूबर को DMRC ने किराया बढ़ा दिया, जिससे हर स्लैब में 10 रुपये की बढ़ोतरी हुई है। इससे पहले मई में मेट्रो के किराए में बढ़ोतरी की गई थी। इसके बाद जून में हर रोज करीब 1.5 लाख यात्री कम हो गए थे।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here