शून्य मार्क्स देने पर SRCC प्रोफेसर से ABVP के प्रदीप भोगट ने की मारपीट, FIR दर्ज

0
>

दिल्ली पुलिस ने श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स (एसआरसीसी) के छात्र और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के नेता प्रदीप भोगट के खिलाफ प्रोफेपर पर जानलेवा हमला करने के आरोप में FIR दर्ज की है। ABVP नेता पर आरोप है कि इग्जाम में शून्य मार्क्स मिलने से नाराजा छात्र ने टीचर की सरेआम पिटाई कर दी। जिसके बाद कॉलेज के कई प्रोफेसरों ने दिल्ली पुलिस में आरोपी छात्र के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।

हालांकि, एबीवीपी का कहना है कि आरोपी छात्र का उसके संगठन से कोई संबंध नहीं है। जबकि आरोपी छात्र 2015 में दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डीयूएसयू) का खेल सचिव रह चुका है। सबसे हैरानी की बात यह है कि यह शर्मनाक घटना कॉलेज के प्रिंसिपल आरपी रस्तोगी के सामने पार्किंग एरिया में हुई। इस घटना के बारे में जानकारी देते हुए रस्तोगी ने बताया कि आरोपी छात्र ने प्रोफेसर के साथ मारपीट की और फौरन घटना स्थल से फरार हो गया।

Also Read:  ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कुलदीप ने लगाया हैट-ट्रिक, भारत के तीसरे गेंदबाज

प्रिंसिपल ने बताया कि आरोपी छात्र ने प्रोफेसर को कई बार थप्पड़ मारा और यह शर्मनाक घटना मेरे सामने हुआ। उन्होंने बताया कि घटना करीब 5:30 की है। घटना के बाद मैंने और अन्य कई प्रोफेसरों ने आरोपी छात्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है। वहीं, कॉलेज प्रशासन जल्द ही आरोपी के खिलाफ सख्त फैसला लेने वाला है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस घटना से आहत शारीरिक रूप से दिव्यांग प्रोफेसर अब दिल्ली छोड़कर चले गए हैं।

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, शुक्रवार (14 जुलाई, 2017) को प्रोफेसर अश्विनी कुमार द्वारा इंटरनल परीक्षा में जीरो(शून्य) नंबर दिए जाने पर छात्र और ABVP नेता प्रदीप भोगट भड़क गए। इतना ही नहीं दोनों के बीच बहस इतनी बढ़ गई कि छात्र ने पहले प्रोफेसर की कार पर किक मारी और उसके बाद मारपीट करने लगा।

Also Read:  भारत में मोबाइल फोन उपभोक्ताओं की संख्या 1 अरब के पार

छात्र ने लगाया भेदभाव का आरोप

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा के छात्र फोगट का कहना है कि अश्वनी सर को पिछले साल उस वक्त से मुझसे समस्या है जब मैंने कॉलेज चुनावों में हिस्सा लिया था। छात्र का कहना है कि जब से मैं लॉ फैकल्टी और एबीवीपी से जुड़ा हूं तब से वह मेरे खिलाफ शख्त रहते हैं। वह नहीं चाहते कि छात्रों को राजनीतिक रूप से सक्रिय होना चाहिए। छात्र का आरोप है कि उन्होंने मुझे मेरे शून्य मार्क्स दिया और साथ ही अन्य शिक्षकों से भी शून्य मार्क्स ही देने को कहा।

भोगट ने कहा कि मेरी उपस्थिति सामान्य थी, लेकिन उन्होंने इस साल मेरा प्रवेश पत्र रोक दिया। मैं शुक्रवार को अश्वनी सर से बात कर रहा था कि मेरे भविष्य को बर्बाद मत करिए। लेकिन उन्होंने कहा कि मैं तुझे पास नहीं होने दूंगा। फिर मैंने उनको धक्का दे दिया। साथ ही तीन थप्पड़ मारे और पेट में एक लात मारी। आरोपी छात्र ने कहा कि मेरे पास अन्य कोई विकल्प नहीं था।

Also Read:  सिस्टम से लड़ने वालों को बलिदान के लिए तैयार रहना पड़ता है, कुर्बानी देनी पड़ती है, तैयार हूँ: स्वाति मालीवाल

FIR दर्ज

इस मामले में जानकारी देते हुए डीसीपी जतिन नरवाल ने बताया कि प्रिंसिपल और अन्य प्रोफेसर्स ने मैनेजमेंट प्रोग्राम के छात्र के खिलाफ शुक्रवार शाम थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस ने बताया कि धारा 341 और 506 के तहत आरोपी छात्र के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। शिकायकर्ताओं ने आरोपी के खिलाफ मारपीट का आरोप लगाया है। हालांकि, एफआईआर में किसी प्रोफेसर का नाम नहीं लिखा है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here